मृतक पत्रकार के परिजनों को मिलेंगे 10 लाख रुपये -सीएम योगी

उत्तर प्रदेश क्राइम देश

गाजियाबाद- गाजियाबाद में पत्रकार विक्रम जोशी की हत्या पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आर्थिक मदद का ऐलान किया है। CM YOGI ने कहा कि विक्रम जोशी के परिवार को 10 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी। इसके साथ ही पत्नी को नौकरी और बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देने का आदेश दिया गया है।

विक्रम को विजय नगर इलाके में स्कूटी सवार बदमाशों ने सोमवार को सिर में गोली मार दी थी। पुलिस इस मामले में 9 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। SSP ने चौकी इंचार्ज को निलंबित किया गया था।


पुलिस ने घटना में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद किया था। वहीं, छेड़छाड़ के मामले में शिकायत मिलने के बावजूद कार्रवाई न करने वाले प्रताप विहार चौकी इंचार्ज राघवेंद्र सिंह को SSP ने सस्पेंड कर दिया था। पुलिस की लापरवाही को लेकर CO प्रथम को विभागीय जांच सौंपी है।

SSP कलानिधि नैथानी ने बताया कि मीडियाकर्मी विक्रम जोशी के भाई अनिकेत जोशी ने रवि, छोटू और आकाश बिहारी को नामजद करते हुए कई अज्ञात लोगों के खिलाफ तहरीर दी थी। मुकदमा दर्ज कर फरार एक आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए छह टीमें गठित की हैं।


बदमाशों की गोली का शिकार हुए पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान गाजियाबाद के अस्पताल में मौत हो गई। इसके बाद इस पर राजनीति भी शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर योगी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट किया है- वादा था राम राज का, दे दिया गुंडा राज।’


सोमवार रात को भांजी के साथ छेड़छाड़ का विरोध करने पर गाजियाबाद के विजय नगर में बदमाशों ने विक्रम जोशी को सरेआम गोली मार दी थी, जिसके बाद उनका शहर के यशोदा अस्पताल में इलाज चल रहा था। अस्पताल में पत्रकार की हालत लगातार चिंताजनक बनी हुई थी, उन्हें ICU में रखा गया था। बुधवार सुबह उनके निधन की सूचना आई तो पुलिस प्रशासन में भी हड़कंप मच गया।


पत्रकार विक्रम जोशी की मौत की खबर लगे ही अस्पताल में बड़ी संख्या में परिजन व मीडियाकर्मी जुट गए। परिजनों ने आरोपितों पर सख्त कार्रवाई की मांग को लेकर अस्पताल में हंगामा भी किया।


गौरतलब है कि विजयनगर थाना क्षेत्र की माता कॉलोनी में सोमवार देर रात एक अखबार के पत्रकार विक्रम जोशी को बदमाशों ने उनकी बेटियों के सामने ही कनपटी से तमंचा सटाकर गोली मार दी थी और फरार हो गए। मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपित समेत 9 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

लापरवाही बरतने में SSP कलानिधि नैथानी ने प्रताप विहार चौकी प्रभारी राघवेंद्र सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है और CO सिटी प्रथम राकेश मिश्रा को विभागीय जांच सौंपी है।
उत्तर प्रदेश पुलिस ने 10 आरोपितों के नाम जाहिर किए हैं, जिनमें से 3 को गिरफ्तार किया है, जबकि 6 हिरासत में है। वहीं, मुख्य आरोपित फरार है।

आरोपित पक्ष पत्रकार विक्रम जोशी की एक रिश्तेदार को लंबे समय से परेशान करते थे। उससे छेड़खानी करते थे। विक्रम इसका विरोध करते थे। इस संबंध में पीड़ित पक्ष ने थाने व चौकी में 16 जुलाई को तहरीर भी दी थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।


SSP कलानिधि नैथानी ने बताया कि विक्रम जोशी पर हुए हमले में विजयनगर पुलिस ने उनके भाई अनिकेत जोशी की तहरीर पर छोटू, रवि और आकाश बिहारी समेत अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिस की छह टीमों का गठन किया गया था। घटना के 2 घंटे बाद ही पुलिस ने मुख्य आरोपित विजयनगर माता कॉलोनी निवासी रवि को गिरफ्तार लिया। इसके बाद पुलिस ने चरण सिंह कॉलोनी निवासी छोटू, देवव्रत कॉलोनी निवासी मोहित, विजयनगर सेटर नौ निवासी दलवीर सिंह, चरण सिंह कॉलोनी निवासी आकाश उर्फ लुल्ली, विजयनगर सेक्टर-11 निवासी योगेंद्र, लाल क्वार्टर साहिबाबाद निवासी अभिषेक हल्का व चरण सिंह कॉलोनी निवासी शाकिर को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में अभी माता कॉलोनी निवासी आकाश बिहारी फरार है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।


वहीं पुलिस हमले के बाद घटनास्थल की CCTV फुटेज भी पुलिस ने खंगाली है। इसमें दिखाई दे रहा है कि आरोपितों ने विक्रम जोशी की मोटरसाइकिल को रोका और उसके साथ मारपीट की। उसके बाद दोनों बेटियों के सामने गोली मार दी। इसके बाद बेटी विक्रम जोशी के पास पहुंची और उन्हें हिलाने का प्रयास कर रही है। इसके बाद बेटी शोर मचा रही है। इस CCTV फुटेज के आधार पर भी पुलिस जांच में जुटी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *