Radha Krishna Kishore Joined RJD

राजद में शामिल हुए झारखंड के पूर्व मंत्री राधाकृष्ण किशोर

झारखण्ड देश

झारखंड के पूर्व मंत्री राधाकृष्‍ण किशोर आज राष्ट्रीय जनता दल में शामिल हो गए। विधानसभा चुनाव बिहार में हो रहा है और उसका प्रभाव Jharkhand में भी देखने को मिल रहा है। चुनाव से पूर्व दलबदल होना एक सामान्‍य बात हो गई है। इसी क्रम में आज रांची में आयोजित एक मिलन समारोह में राधाकृष्‍ण ने लालू यादव की पार्टी राजद का दामन थाम लिया। बता दें कि 4 दिन पहले Radha Krishna Kishore ने रांची स्थित केली बंगले में रह रहे राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मुलाकात की थी। उसके बाद से ही यह अटकलें लगाई जा रही थी कि राधाकृष्‍ण राजद में शामिल हो सकते हैं।

राजद में शामिल होने के मौके पर राधाकृष्‍ण ने कहा कि समय, काल और परिस्थितियों के अनुरूप राजद में शामिल होने का निर्णय लिया है। राधाकृष्‍ण ने कहा कि व्‍यक्ति खुद का प्रबंधक होता है और उसे अपने जीवन का मैनेजमेंट खुद करना पड़ता है। कहा कि मेरा प्रयास रहेगा कि राजद के कार्यकर्ता, मंत्री सत्‍यानंद भोक्‍ता, प्रदेश अध्‍यक्ष अभय सिंह आदि के साथ मिलकर राज्‍य में राजद को और मजबूत करें।


राजद के प्रदेश अध्‍यक्ष अभय सिंह ने राधाकृष्‍ण को सदस्‍यता दिलाई। अभय सिंह ने कहा कि राधाकृष्‍ण के पार्टी में आने से राजद को और मजबूती मिलेगी। पलामू में पार्टी का जनाधार और बढ़ेगा। इस मौके पर झारखंड के मंत्री और राजद नेता सत्‍यानंद भोक्‍ता भी मौजूद रहे।

राधाकृष्‍ण 2014 में कांग्रेस को छोड़कर BJP में शामिल हुए थे। इसके बाद 2019 में BJP का साथ छोड़कर आजसू में गए थे। ये छतरपुर से BJP के विधायक रह चुके हैं। ये छतरपुर से 5 बार विधायक रह चुके हैं। राधाकृष्‍ण जदयू में भी रह चुके हैं। इस प्रकार देखा जाए तो Jharkhand के पूर्व मंत्री का यह पांचवां राजनीतिक दल है।

READ MORE:   तबलीगी जमात के विदेशी लोगों पर एक्शन, सात सौ पासपोर्ट जब्त


2019 के विधानसभा चुनाव में BJP ने छतरपुर से इनका टिकट काट दिया था। इसके बाद इन्‍होंने नाराज होकर आजसू का दामन थाम लिया था। आजसू ने उन्‍हें यहां से प्रत्‍याशी बनाया था। राधाकृष्‍ण BJP के मुख्‍य सचेतक भी रह चुके हैं। राधाकृष्‍ण किशोर पलामू के बड़े नेता माने जाते हैं। इन्‍होंने झारखंड विधानसभा और उससे पूर्व बिहार विधानसभा में उत्‍कृष्‍ट विधायक का सम्‍मान प्राप्‍त किया है। राधाकृष्‍ण के राजद में आने से पार्टी को बिहार विधानसभा चुनाव में लाभ मिल सकता है। संभव है कि राधाकृष्‍ण चुनाव प्रचार करने के लिए बिहार जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *