कोरोना के बाद चीन से अमेरिका पहुंची खतरनाक बीमारी

Corona Updates NEWS विदेश हेल्थ

कोरोना वायरस से जूझ रही दुनिया के लिए एक बुरी खबर है। बताया जा रहा है कि चीन से एक और बीमारी अमेरिका पहुंची है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका के कोलोराडो में एक गिलहरी को ब्यूबोनिक प्लेग से संक्रमित पाया गया है। जिसके बाद अब विशेषज्ञों को यह डर सताने लगा है कि कोरोना वायरस की ही तरह ब्यूबोनिक प्लेग भी न फैलने लग जाए।

मालूम हो कि कुछ दिनों पहले ही चीन से खबर आयी थी कि चीन के मंगोलिया में ब्यूबोनिक प्लेग फैल रही है। अब चीन से बाहर निकलकर अगर यह बीमारी अमेरिका पहुंची है तो यह खतरे की घंटी है। गौरतलब है कि ब्यूबोनिक प्लेग दुनिया में तीन बार फैल चुका है, पहली बार इस बीमारी से 5 करोड़ लोगों की मौत हुई थी, दूसरी बार पूरे यूरोप की एक तिहाई आबादी और तीसरी बार 80 हजार लोगों की जान चली गयी थी। अमेरिका ने हमेशा कोरोना वायरस के प्रसार के लिए चीन को ही जिम्मेदार माना है। चीन के साथ-साथ विश्व स्वास्थ्य संगठन को भी अमेरिका ने कोरोना के लिए जिम्मेदार ठहराया और उससे नाता भी तोड़ लिया।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका के कोलोराडो के मॉरिसन में 11 जुलाई को पहली बार यह मामला सामने आया था। वहां एक गिलहरी ब्यूबोनिक प्लेग से संक्रमित पायी गई है। मामला सामने आने के बाद वहां के प्रशासन ने लोगों को सतर्क रहने को कहा है। साथ ही चूहों, गिलहरियों और नेवलों से दूर रहने को कहा है।

बता दें कि ब्यूबोनिक प्लेग चूहों में पाए जाने वाली बैक्टीरिया से फैलता है। यह बैक्टीरिया खून और फेफड़ों पर हमला करता है। इससे उंगलियां काली पड़कर सड़ने लगती हैं और नाक में भी संक्रमण के कारण ऐसा ही होता है।

विशेषज्ञों के अनुसार बीमारी होने से शरीर में असहनीय दर्द, तेज बुखार होता है. नब्ज तेज चलने लगती है। बताया जाता है कि ब्यूबोनिक ब्लेग सबसे पहले चूहों को होता है। चूहों के मरने के बाद इस प्लेग का बैक्टीरिया मानव शरीर में प्रवेश कर जाता है और धीरे-धीरे लोगों को अपनी चपेट में लेने लगता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *