Ram Mandir

उमा भारती खुद बताएं मुहूर्त सही है या नहीं? चुप क्यों हैं संत-दिग्विजय

देश

अयोध्या में पांच अगस्त को राम मंदिर का भूमि पूजन होना है, इससे पहले कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी में बयानबाजी छिड़ गई है। कांग्रेस नेता Digvijaya Singh के ट्वीट पर सोमवार को विवाद हुआ, जिसके बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर BJP पर निशाना साधा। दिग्विजय ने कहा कि भगवान राम के मंदिर पर सैकड़ों वर्ष तक विवाद रहा, इसको जो राजनीतिक रूप दिया जा रहा है मेरी आपत्ति उसपर है।

Digvijaya Singh ने कहा कि जब पूरे देश में ये परंपरा चल रही है कि हर शुभ काम में मुहूर्त देखा जाता है, अभी चातुर्मास चल रहा है और भादो है, तो फिर पांच अगस्त को भूमिपूजन क्यों हो रहा है।

उमा भारती को लेकर Digvijaya Singh ने कहा कि उमा भारती क्यों नहीं जा रही हैं? मैं उनसे पूछता हूं कि क्या मुहूर्त सही है? साधु संतों को बोलना चाहिए इस समय वो मौन क्यों है? मैं तो कहता हूं इसपर शास्त्रार्थ होना चाहिए, कांग्रेस नेता ने कहा कि शिलान्यास तो पहले ही राजीव गांधी कर चुके हैं।

मोदी कैबिनेट को होना चाहिए क्वारनटीन’

कांग्रेस नेता दिग्विजय ने कहा कि आप देखिए कि पुजारियों को Corona हुआ, कैबिनेट मंत्री का दुःखद देहांत हो गया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और यूपी प्रदेश अध्यक्ष को Corona हो गया। शिवराज और उनके मंत्री Corona पॉजिटिव हो गए। दिग्विजय बोले कि अमित शाह जी को Corona होने के बाद पूरी केंद्रीय कैबिनेट को क्वारनटीन होना चाहिए, जबकि यूपी कैबिनेट को भी होना चाहिए।

दिग्विजय ने सवाल उठाए कि अगर कोई आम आदमी Corona पॉजिटिव होता है, तो पूरा इलाका कंटेनमेंट जोन बन जाता है। ये मुहूर्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुविधा के अनुसार निकाला गया है। इसलिए मेरी हाथ जोड़कर प्रार्थना है कि चातुर्मास के बाद भूमिपूजन होना चाहिए। मैं तो बोल रहा हूं वहीं करें भूमिपूजन लेकिन जब शुभ काम के लिए मुहूर्त निकाला जाना है तो PM मोदी को ध्यान में रखकर क्यों निकाला जाए।

गौरतलब है कि इससे पहले Digvijaya Singh ने ट्वीट में लिखा था कि हिन्दू मान्यताओं के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए और मुहूर्त देखकर ही राम मंदिर का भूमि पूजन किया जाना चाहिए। दिग्विजय के इस बयान पर BJP ने उनपर रोड़ा डालने का आरोप लगाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *