जेल में बंद मुस्लिम महिलाएं भी पति की लंबी उम्र के लिए करेंगी करवाचौथ व्रत…

देश धर्म

करवाचौथ का व्रत सभी सुहागन अपने पति की लंबी उम्र और अच्छी सेहत के लिए रखती हैं। इस दिन स्त्रियां खूब सज-संवरकर पूरा दिन निर्जला रख कर शाम को चांद देख कर व्रत तोड़ती हैं। ऐसे में इस व्रत को इस बार यूपी के बिजनौर की जेल में बंद महिलाएं भी पति की लंबी उम्र के लिए करवाचौथ का व्रत रखेंगी। इस व्रत को करने में हिंदू महिलाएं ही नहीं बल्कि मुस्लिम महिलाएं भी दिलचस्पी दिखा रही हैं।

जेलर शैलेन्द्र प्रताप सिंह ने बुधवार को बताया कि 21 महिलाएं गुरुवार को करवा चौथ का व्रत रखेंगी, जिनमें दो मुस्लिम महिलाएं अफसरी और रेशमा शामिल हैं। महिला कैदियों के इस व्रत के देखते हुए जेल प्रशासन ने काफी तैयारियां की हैं। मुस्लिम महिला अफसरी की बात करें तो वह कत्ल के मुकदमे में पति के साथ आजीवन कारावास की सजा काट रही है। शैलेन्द्र प्रताप सिंह के अनुसार जेल से व्रत रखने वाली महिलाओं को पूजा सामग्री और व्रत खोलने पर भोजन उपलब्ध कराया जायेगा।

बता दें कि आज करवाचौथ है। यह हिन्दुओं का सबसे खास पर्व है, जो महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लि‍ए रखती हैं। इस दिन सुहागिन महिलाएं निर्जला व्रत रखती हैं। करवाचौथ व्रत हर साल महिलाएं अपने पति की लम्बी उम्र और अच्छे स्वास्थ्य के लिए रखती हैं। करवा चौथ पूरे भारत में मनाया जाता है, लेकि‍न उत्तर भारत में इसका खास महत्व है। उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और गुजरात में करवाचौथ बड़े ही अलग अंदाज में मनाया जाता है।

करवाचौथ सिर्फ बिजनौर की जेल में ही नहीं बल्कि मथुरा जेल में भी मनाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले की जेल में बंद 65 महिला बंदी भी अपने पति की दीर्घायु के लिए करवाचौथ का व्रत रख रही हैं। जेल प्रशासन ने ऐसा इंतजाम किया है कि वे पति का चेहरा देखकर व्रत भी खोल सकेंगी।

मथुरा जेल में 65 महिला कैदी रख रहीं व्रत

मथुरा जिला कारागार के जेलर अरविंद पाण्डेय ने बताया, ‘मथुरा जेल में कुल 103 सजायाफ्ता एवं विचाराधीन महिला बंदी निरुद्ध हैं। जिनमें से 65 बंदियों ने करवाचौथ का व्रत रखने की सूचना जेल प्रशासन को दी,जिसके बाद प्रशासन ने व्रत के पुख्ता इंतजाम किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *