sc order on RESERVATION

सुप्रीम कोर्ट का महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात और असम सरकार से सवाल- कोरोना से निपटने के क्या किए उपाय

Corona Updates NEWS Top News राज्य

देश के कुछ राज्यों में बढ़ते कोरोना के मामलों पर सुप्रीम कोर्ट ने भी संज्ञान लिया है। सोमवार को शीर्ष अदालत ने महाराष्ट्र, दिल्ली, गुजरात और असम से दो दिन में हलफनामा दायर कर यह बताने को कहा है कि कोरोना के मौजूदा हालात से निपटने के उन्होंने क्या उपाय किए हैं। राजधानी दिल्ली में रविवार को 6746 लोग संक्रमित पाए गए। 6154 लोग ठीक हुए और 121 की मौत हो गई। मौत का यह आंकड़ा देश में सबसे ज्यादा रहा। इस मामले में 50 मौतों के साथ महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर रहा। महाराष्ट्र में यह आंकड़ा 15 मई के बाद सबसे कम है। तब यहां 49 मौतें हुई थीं। दिल्ली में इससे पहले 18 नवंबर को सबसे ज्यादा 131 मरीजों की मौत हुई थी।

देश में रविवार को 44 हजार 404 नए केस आए, 41 हजार 405 मरीज ठीक हुए और 510 की मौत हो गई। देश में अब तक 91.40 लाख केस आ चुके हैं। इनमें से 85.61 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं और 1.33 लाख संक्रमितों की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े covid19india.org से लिए गए हैं।

केंद्र सरकार स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सिन के इमरजेंसी यूज की मंजूरी दे सकती है। अभी इसके तीसरे फेज का ट्रायल चल रहा है। न्यूज एजेंसी ने सरकारी सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी है। PM नरेंद्र मोदी संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा कर सकते हैं। इसके बाद PM केंद्र शासित प्रदेशों के प्रतिनिधियों से चर्चा करेंगे। न्यूज एजेंसी ने रविवार को सूत्रों के हवाले से यह जानकारी दी।
महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे ने राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों पर रविवार को चिंता जताई। उन्होंने कहा की कोरोना की दूसरी लहर सुनामी जैसी होगी। उद्धव ने कहा कि मुझे नाइट कर्फ्यू लागू करने की सलाह दी जा रही है, लेकिन मैं कानून लागू करने में विश्वास नहीं करता। लोगों को खुद एहतियात बरतनी चाहिए।
नॉर्थ दिल्ली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन, रोहिणी जोन ने 30 नवंबर तक जनता मार्केट को सील कर दिया है। यहां भारी भीड़ देखने को मिली थी। लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन नहीं किया और बगैर फेस मास्क भी दिखे।
उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्या कोविड पॉजिटिव पाई गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *