Bihar Panchayat Chunav 2021

बिहार में बैलेट पेपर की जगह ईवीएम से होगा पंचायत चुनाव

elections देश बिहार

विधानसभा चुनाव के बाद अब बिहार में गांवों की सरकार के लिए चुनाव आयोग की ओर से कवायद तेज हो गई है। अभी तक Panchayat Chunav बैलेट पेपर से होते रहे हैं मगर इस बार संभावना है कि मतदान में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन का प्रयोग हो। राज्य निर्वाचन आयोग ने इस बाबत राज्य सरकार को प्रस्ताव भेज दिया है। हरियाणा, राजस्थान, केरल और मध्य प्रदेश में EVM से Panchayat Chunav कराए जा रहे हैं। बिहार में अगर इसकी अनुमति मिलती है तो यह पांचवां राज्य होगा।


प्रस्ताव में तर्क दिया गया कि EVM से चुनाव में अधिक पारदर्शिता लाने में मदद मिलेगी। अगर EVM से चुनाव की हरी झंडी मिल जाती है तो EVM से चुनाव का यह पहला मौका होगा। बिहार पंचायत चुनाव की तारीख तो अभी तय नहीं हुई है लेकिन माना जा रहा है कि यह मार्च के अंत तक हो सकता है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, अधिकतम 9 चरणों में पंचायत चुनाव की तैयारी है। जिला परिषद, पंचायत समिति सदस्य, ग्राम पंचायत मुखिया, ग्राम कचहरी सरपंच, ग्राम पंचायत सदस्य और ग्राम कचहरी पंच के करीब 2 लाख 58 हजार पदों पर चुनाव होना है।


नये तरह का होगा ईवीएम
बिहार ग्राम Panchayat Chunav राजनीतिक चिन्हों पर पर नहीं होते हैं। ये अलग बात है कि मुखिया और जिला परिषद सदस्य जैसे पदों के लिए बड़ी संख्या में उम्मीदवारों को प्रमुख राजनीतिक दलों का समर्थन मिलता है।

सूत्रों के मुताबिक पंचायती राज विभाग ने चुनाव के लिए विशेष प्रकार की मशीनों का निर्माण करने वाले इलेक्ट्रानिक्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (ईसीआईएल), बैंगलोर से EVM की आवश्यकता के संबंध में तौर-तरीकों पर काम करना शुरू कर दिया है। एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि प्रस्ताव मंजूर होते ही हम ईसीआईएल से EVM प्राप्त करेंगे। यह हमारी जरूरतों के अनुरूप है क्योंकि हमारे पास पंचायतों में छह पद हैं और EVM में कई मतदान विकल्प हैं।

READ MORE:   अमेरिकी राष्‍ट्रपति ने बिडेन को कहा बेवकूफ -कोविड वैक्‍सीन पर नागरिकों को कर रहे हैं गुमराह'

मतदाता सूची बनाने का काम शुरू
बिहार में अगले साल त्रिस्तरीय पंचायत आम चुनाव को देखते हुए सोमवार से वार्ड के अनुसार नयी मतदाता सूची की तैयारी शुरू हो गयी है। राज्य में एक लाख 14 हजार 733 वार्डों के चुनाव क्षेत्र को मानते हुए अलग-अलग मतदाता सूची को तैयार की जा रही है. इसके साथ ही बिहार में पंचायत समिति का 11497 निर्वाचन क्षेत्र हैं।

इन सभी निर्वाचन क्षेत्रों की भी अलग सूची तैयारी का काम शुरू हो गया है. इधर, मुखिया व सरपंच के निर्वाचन के लिए 8386 ग्राम पंचायतों को निर्वाचन क्षेत्रों की सूची तैयार हो रही है। राज्य में जिला परिषद सदस्यों के लिए 1161 निर्वाचन क्षेत्रों का गठन किया गया है। इस आधार पर भी अलग मतदाता सूची की तैयारी का काम शुरू हो गया है। इसके बाद मतदाता सूची के प्रारूप का प्रकाशन 19 जनवरी को किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *