Farmer Protest: किसान आंदोलन पर बढ़ी मोदी सरकार की मुसीबत, सहयोगी पार्टी RLP ने कही अलग होने की बात

NEWS देश राजनीति राज्य

कृषि कानून के खिलाफ राजधानी दिल्ली में किसानों का प्रदर्शन जारी है। पिछले पांच दिनों से जारी किसानों के प्रदर्शन का असर भी दिखना शुरू हो गया है, अब केन्द्र में BJP के सहयोगियों ने भी नये कृषि बिल को लेकर बोलना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में केन्द्र की NDA सरकार में सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के नेता हनुमान बेनीवाल ने कृषि बिल पर बयान दिया है।

राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी अध्यक्ष और सांसद हनुमान बेनीवाल ने सोमवार को गृहमंत्री अमित शाह को पत्र लिखा। इस पत्र में उन्होंन कहा की अगर केंद्र सरकार ने तीनों कृषि बिल वापस नहीं लिए तो उनकी पार्टी NDA को अपना समर्थन जारी रखने के बारे में सोचेंगे। उन्होंने अपने पत्र में किसानों को दिल्ली में बातचीत के लिए उचित स्थान देने भी की मांग की।

बेनीवाल ने ट्वीट कर कहा कि ”अमित शाह जी, देश मे चल रहे किसान आंदोलन की भावना को देखते हुए हाल ही में कृषि से सम्बंधित ला, गए 3 बिलों को तत्काल वापस लिया जाए। स्वामीनाथन आयोग की सम्पूर्ण सिफारिशों को लागू करें व किसानों को दिल्ली में त्वरित वार्ता के लिए उनकी मंशा के अनुरूप उचित स्थान दिया जाए।

बता दें कि केंद्र के तीन नए कृषि कानून के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन पांचवें दिन सोमवार को भी जारी है। 26 नवंबर से दिल्ली के बॉर्डर पर जमे पंजाब और देश के बाकी हिस्सों से आये किसानों का आंदोलन दिनों-दिन तेज होता जा रहा है।

READ MORE:   बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में NDA लड़ेगा चुनाव- अमित शाह

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *