Rahul Gandhi

जिस दिन सत्ता में आए, कूड़ेदान में फेंक देंगे तीनों कृषि कानून-राहुल गांधी

देश पंजाब

कांग्रेस नेता Rahul Gandhi ने नए कृषि कानूनों के खिलाफ केंद्र सरकार के खिलाफ एक बार फिर हमला बोला है, पंजाब के मोगा में खेती बचाओ यात्रा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा है कि अगर सरकार को ये बिल पास करना ही था तो सबसे पहले लोकसभा और राज्यसभा में चर्चा करनी चाहिए थी।

Rahul Gandhi ने कहा कि वे किसानों को गारंटी देना चाहते हैं कि जिस दिन Congress सत्ता में आई उस दिन इन तीनों काले कानून को खत्म कर देगी और इन कानूनों को कूड़ेदान में फेंक देगी।

किसानों के साथ खड़ी है कांग्रेस

कांग्रेस नेता ने कहा कि वे पंजाब के किसानों को भरोसा दिलाना चाहते हैं कि कांग्रेस देश भर के किसानों के साथ खड़ी है और Congress एक इंच भी अपने वादे से पीछे नहीं हटने वाली है। Rahul Gandhi ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार एमएसपी को खत्म करना चाहती है और चाहती है कि खेती का पूरा बाजार अंबानी और अंडानी के हवाले कर दिया जाए, लेकिन कांग्रेस पार्टी ऐसा नहीं होने देगी।

राहुल ने कहा कि यदि किसान इन नए कानूनों से खुश हैं तो देश भर में किसान प्रदर्शन प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं? पंजाब में किसान प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं. राहुल ने कहा कि कोरोना काल में इन तीन कानूनों को लागू करने की क्या जल्दबाजी थी।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष Rahul Gandhi ने कहा कि वे ये मानते हैं कि किसानों की उपज खरीदने के लिए बने मौजूदा सिस्टम में खामी है, लेकिन इस सिस्टम को सुधारने की जरूरत है, इसे नष्ट करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि अगर ये सिस्टम नष्ट हो गया तो किसानों के पास कुछ नहीं बचेगा और किसान को सीधा अंबानी और अडानी से बात करनी पड़ेगी और इस बातचीत में किसान मारा जाएगा।

READ MORE:   4 अक्टूबर से सऊदी अरब में उमरा की होगी शुरुआत

राहुल गांधी ने एक बार फिर कहा कि देश में नरेंद्र मोदी की सरकार है, लेकिन ये गलत है ये अंबानी और अडानी की सरकार है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी जी को अंबानी और अडानी चलाते हैं, जीवन देते हैं। इसके लिए मीडिया का इस्तेमाल किया जाता है। राहुल ने कहा कि मोदी जी इनके लिए जमीन साफ करते हैं और ये मोदी जी को समर्थन देते हैं।

इस मौके पर Congress सांसद Rahul Gandhi , पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और प्रदेश Congress अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने ट्रैक्टर यात्रा भी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *