Hathras Case

हाथरस कांड: सपा व आरएलडी के कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बरसाईं लाठियां

NEWS Top News

हाथरस के बूलगढ़ी गांव की मृत युवती के परिवारीजन से मिलने के लिए राजनैतिक दलों के 5 नेताओं के प्रतिनिधिमंडल को मिलने की अनुमति का निर्देश अब जिला व पुलिस प्रशासन पर भारी पड़ रहा है।

समाजवादी पार्टी तथा राष्ट्रीय लोकदल के नेताओं के प्रतिनिधिमंडल के साथ आए कार्यकर्ताओं ने यहां जमकर हंगामा दिया । इनके पथराव करने के बाद पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा है। इसी बीच भीम आर्मी प्रमुख Chandrashekhar भी समर्थकों के साथ गांव की ओर बढ़ रहे हैं। गांव में इन दलों के बीच टकराव की स्थिति को देखते हुए अब अतिरिकत बल की मांग भी की गई है। इससे पहले RLD नेता जयंत चौधरी सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ गांव बूलगढ़ी पहुंचे यहां कार्यकर्ताओं की पुलिस से झड़प हो गई।

पीड़ित परिवार से मिलने बूलगढ़ी गांव जाने के लिए सपा नेता पुलिस से भिड़ गए। सपा नेताओ ने पुलिस पर धूल और ईंटें फेंकी। इस पर पुलिस ने उन्हें लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया। सपाई और पुलिसकर्मियों के बीच यह क्रम 4 बार चला। सपाई गांव के बाहर धरने पर बैठ गए हैँ। पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नरेश उत्तम के नेतृत्व में सपा का 5 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल पीड़ित परिवार से मिलने आया था। उनके साथ जाने से अन्य पार्टीजनों को रोकने पर टकराव की स्थिति बनी। प्रतिनिधि मंडल पीड़ित परिवार से मिलकर लौट गया है।


Hathras के गांव बूलगढ़ी में SP व RLD कार्यकर्ताओं ने बेरीकेडिंग तोड़ दी और पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने लाठी चार्ज किया। पुलिस ने पथराव करने वाले समाजवादी पार्टी के नेताओं को दौड़ाया भी है। इनके पथराव करने से CO आनंद कुमार के साथ अन्य कई पुलिसकर्मी भी चोटिल हो गए हैं। समाजवादी पार्टी के साथ ही राष्ट्रीय लोकदल के नेताओं के बैरिकेडिंग को तोडऩे के बाद नारेबाजी करते हुए गांव में घुसने के प्रयास से दौरान पुलिस ने मोर्चा संभाल लिया।


इसी बीच भीम आर्मी के कार्यकर्ता भी कोतवाली चौराहे पर पहुंचे हैं। इन सभी से SP विनीत जायसवाल वार्ता कर रहे हैं। भीम आर्मी के प्रमुख Chandrashekhar आजाद का वाहन काफिला हाथरस पहुंच गया। काफिला मृतक युवती के घर बूलगढ़ी जाएगा। इसको सुरक्षा बढ़ा दी गई है। गांव के बाहर व अन्य जगहों पर वाहनों को रोकने के लिए आढ़े तिरछे वाहन खड़े कर दिए गए हैं।

बूलगढ़ी कांड में पीड़िता के गांव आये रालोद के नेता जयंत चौधरी ने सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। उन्होंने कहा सिर्फ SP पर कार्रवाई करके सरकार अपने काम से नहीं बच सकती। योगी जी इस मामले में खुद जिम्मेदारी लें और इस्तीफा दें। हमारे कार्यकताओं पर लाठी चार्ज करना दुर्भाग्यपूर्ण है। जयंत चौधरी ने कहा घटना के लिए सरकार और उसके प्रतिनिधि जिम्मेदार है। पीड़ित परिवार भयभीत है। कल हम राष्ट्रीय महिला आयोग से मिलेंगे। परिवार न्याय चाहता है। प्रदेश व देश में कानून व्यवस्था खराब है। महिला अपराध बढ़े है। एक अजीब सा माहौल पैदा कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *