राम मंदिर के लिए दान देने में सबसे आगे हनुमान

Special Report देश धर्म

अयोध्‍या (Ayodhya) में बन रहे भगवान श्रीराम के मंदिर (Sri ram Temple) के निर्माण के लिए दान देने में उनके परम भक्‍त हनुमान जी (Bhakta Hanumanji) सबसे आगे हैं। हम बात कर रहे हैं राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए पटना के हनुमान मंदिर (Patna Hanuman Temple) से मिले पांच करोड़ रुपयों की। हनुमान मंदिर यह राशि पांच सालों के दौरान देगा। पटना के राजवंशी नगर हनुमान मंदिर ने भी इसके लिए 10 लाख रुपये दान दिए हैं। राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि संग्रह के तहत बिहार की अन्‍य कई मंदिर समितियों ने भी झोली खोलकर दान दिए हैं।

विदित हो कि राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए धन संग्रह का अभियान बीते 15 जनवरी से 27 फरवरी तक चला था। अभियान के तहत संग्रह टोलियों ने गांव-गांव जाकर धन एकत्र किया। राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि संग्रह की ओर से मिली जानकारी के अनुसार बिहार में दान देने में सबसे आगे पटना रहा, जहां से 6.25 करोड़ से अधिक की राशि मिली। दानापुर ने अलग से करीब 1.23 करोड़ का दान दिया।

राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि संग्रह समिति की तरफ से एक ऐप तैयार किया गया, जिसमें बैंकों से राशि और चेक क्लियर होने के बाद खाते में कुल जमा राशि दिखती है। बिहार में संग्रह टोलियों के जरिए 22 करोड़ 80 लाख 52 हजार 629 रूपये जमा किए गए। जबकि, बैंकों ने 19 करोड़ 55 लाख 62 हजार की गिनती पूरी की है। अभियान के तहत जमा राशि की गिनती और चेक का क्लिरेंस अभी जारी है।

READ MORE:   आज है 'बाल दिवस', पीएम ने ट्वीट कर दी पंडित नेहरू को श्रद्धांजलि

पटना : 7 करोड़ 48 लाख 13 हजार 796
भागलपुर : 1 करोड़ 66 लाख 14 हजार 295
आरा : 1 करोड़ 11 लाख 52 हजार 056
गया : 1 करोड़ 30 लाख 89 हजार 909
औरंगाबाद : 1 करोड़ 27 लाख 94 हजार 835
रोहतास : 89 लाख 87 हजार 430
नालंदा : 87 लाख 47 हजार 348
कैमूर : 82 लाख
नवादा : 80 लाख, 90 हजार 975
बक्सर : 80 लाख 28 हजार 106
बांका : 61 लाख 80 हजार 262
जहानाबाद : 58 लाख
बाढ़ : 45 लाख 43 हजार 335
शेरघाटी : 41 लाख 05 हजार 422
मुंगेर : 40 लाख 68 हजार 981
जमुई : 34 लाख 98 लाख 247
हिलसा : 23 लाख 37 हजार 696
शेखपुरा : 23 लाख 15 हजार 444
लखीसराय : 21 लाख 79 हजार 794
अरवल : 13 लाख 61हजार 603
(कुल : 22 करोड़ 80 लाख 52 हजार 629 रुपये)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *