Weather Update

उत्तराखंड में बादल फटने से तीन की मौत,कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

उत्तर प्रदेश उत्तराखंड दिल्ली देश पंजाब मौसम

नई दिल्ली- मौसम विभाग के अनुसार आज दिल्ली, हरियाणा, पंजाब व सटे राजस्थान में Barish में वृद्धि होगी। इन राज्यों में अनेक स्थानों पर मध्यम से भारी Barish होगी। शेष राजस्थान में कुछ स्थानों पर हल्की Barish होगी। जम्मू-कश्मीर में अनेक स्थानों पर हल्की Barish व हिमाचल प्रदेश में अनेक स्थानों पर भारी Barish संभव है। उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश से गोरी नदी का जलस्तर बढ़ गया है जिसके बाद मुनस्यारी में पांच घर पानी के बहाव में बह गए। मौसम विभाग ने आज हिमाचल प्रदेश में भारी से बहुत भारी Barish की संभावना जताई है। कल यानी 21 जुलाई से राज्य में Barish में कमी आएगी।

वहीं उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में बादल फटने से कई घर गिर गए हैं। पहाड़ से अचानक आए मलबे में कई घर दब गए। साथ ही पानी के बहाव कई लोगों के बहने की भी खबरें हैं। जानकारी के अनुसार यहां 3 लोगों की मौत हो गई है और 9 लोग लापता हैं। मौसम विभाग की मानें तो यहां अगले 2 दिनों तक भारी बारिश परेशानी का सबब बन सकती है। रविवार की रात हुई भारी Barish के बाद यहां मुनस्यारी के टागा गांव और बंगापानी के गेला गांव मे बादल फटने से तबाही मच गई। कई घर देखते ही देखते जमींदोज हो गए। गेला गांव में 3 लोगों के घर के मलबे में दबने से मौत हो गई वहीं, यहां 3 अन्य घायल हो गए।

उत्तर प्रदेश में भीषण उमस के बीच कुछ जिलों में रिमझिम तो कुछ जगह झमाझम बादल बरसे। इसके चलते नदियों के बढ़ रहे जलस्तर ने तटवर्ती इलाकों में आबादी की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। जोरदार बारिश से बलरामपुर में राप्ती नदी खतरे के निशान को पार कर गई है। मौसम विभाग ने आगामी सप्ताह में रोज बारिश होने का अनुमान लगाया है।कई दिनों से जारी उमस के बीच रविवार सुबह गोंडा और बहराइच में बादलों ने राहत बरसाई। गोंडा में 17 मिमी. और बहराइच में 8 मिमी. बारिश से किसानों के चेहरे खिल गए। बहराइच में एल्गिन बांध पर घाघरा खतरे के निशान से 16 सेंमी. ऊपर पहुंच गई जबकि गोंडा में नदी की धारा 9 सेंमी. ऊपर बह रही है। बहराइच में महसी, मिहीपुरवा, कैसरगंज व नानपारा क्षेत्र में तटवर्ती गांवों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। अयोध्या में भी सरयू जलस्तर में बढ़ोतरी दर्ज की गई। अंबेडकरनगर में घाघरा नदी फिर उफनाने लगी है। हालांकि जलस्तर खतरे के निशान से 42 सेंटीमीटर नीचे है।

बिहार में बाढ़ के पानी में डूबने से 8 की मौत हो गई। वहीं राज्य में रविवार को तेज बारिश के दौरान व्रजपात से 4 महिलाओं समेत 14 लोगों की जान गई है। पूर्णिया जिले के धमदाहा में मरने वालों में एक ही परिवार के 3 लोग शामिल हैं। आकाशीय बिजली का शिकार होने वाले लोगों में पूर्णिया के 4, गया के 3, बेगूसराय के 2 एवं नवादा, सिवान, सहरसा, पूर्वी चंपारण और पटना के एक-एक व्यक्ति शामिल हैं। बिहार के कई जिलों में आज भी बारिश की संभावना है। वहीं भारी बारिश की वजह से मुजफ्फरपुर शहर के कई हिस्सों में पानी जमा, लोगों के घरों के अंदर भी पानी घुस गया है।


दक्षिण-पश्चिमी मानसून को हरियाणा में आए करीब 20 दिन से अधिक का समय बीत चुका है। इसके बावजूद कई बार मानसून सक्रिय होकर कमजोर पड़ गया। अब मानसूनी हवा सामान्य स्थिति में पहुंच रही है। यही कारण है कि रविवार सुबह प्रदेश में कई स्थानों में बारिश हुई। रविवार को सबसे अधिक हिसार में 36.5 एमएम बारिश दर्ज की गई। सुबह बारिश से तापमान तो कम हुआ साथ दोपहर को आद्रता ने लोगों को गर्मी का अहसास कराया। चौधरी चरण ¨सह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने बताया कि दक्षिण पश्चिमी मानसून टर्फ रेखा का पश्चिमी छोर कई दिनों से हिमालय की तलहटियों की तरफ बढ़ा हुआ था जो अब अनुकूल परिस्थितियों के कारण उत्तरवर्ती हो गया है और मैदानी क्षेत्रों की तरफ सामान्य स्थिति में आ गया है, जो अब श्री गंगानगर, रोहतक, फुरसतगंज, पटना के पास गुजर रही है, मगर मानसूनी टर्फ रेखा का पूर्वी छोर अब भी पूर्वोत्तर राज्यों की तरफ व हिमालय की तलहटियों की तरफ बना हुआ है।

अरब सागर से आने वाली हवाएं करेंगी बारिशडा. मदन खिचड़ ने बताया कि मानसूनी टर्फ मैदानी क्षेत्रों की तरफ आने से अब मानसून सक्रिय हो रहा है। इससे अरब सागर से आने वाली नमी वाली हवाएं 20 व 21 जुलाई को भी हरियाणा राज्य के उत्तरी व दक्षिणी क्षेत्रों में हवाओं व गरज चमक के साथ ज्यादातर जिलों में बादल एवं मध्यम बारिश करेंगी। मगर पश्चिमी क्षेत्र में आने वाले जिलों में बीच-बीच में आंशिक बादल व हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। राज्य में मानसून की सक्रियता 22 जुलाई तक बने रहने की संभावना है।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार रविवार को पंजाब के कई जिलों में मानसून जमकर बरसा। पटियाला, अमृतसर व पठानकोट में सुबह से लेकर देापहर के बीच अच्छी खासी बारिश हुई। मौसम विभाग के अनुसार चंडीगढ़ के अनुसार अमृतसर में 22.7, पठानकोट में 36,कपूरथला में 12.5, चंडीगढ़ में 0.6, पटियाला में 0.5 व लुधियाना में 5 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। जालंधर में भी हल्की बारिश हुई। बारिश की वजह से सूबे के लोगों को गर्मी से राहत रही। मौसम विभाग के पूर्वानुमान की मानें तो सोमवार को भी पंजाब के कई जिलों में भारी बारिश की संभावना है। बारिश के दौरान तेज हवाएं भी चलने का पूर्वानुमान है। भारी बारिश का अलर्ट जारी करते हुए किसानों को सचेत रहने की हिदायत भी दी गई है।

असम में बाढ़ की स्थिति खराब होती जा रही है। बाढ़ के चलते राज्य में और 5 लोगों की मौत हो गई है। बारपेटा, बकसा, धुबरी, मोरीगांव और नगांव जिले में एक-एक मौत हुई है। बाढ़ और भूस्खलन से मरने वालों की संख्या 110 हो गई है। राज्य के 33 में से 24 जिलों में बाढ़ से 25 लाख से ज्यादा आबादी प्रभावित हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *