बिहार का रण: कांग्रेस ने किया बड़ा चुनावी दावा, CM नीतीश की उड़ सकती है नींद

elections Special Report देश बिहार राजनीति

बिहार का चुनावी समर अपने चरम पर है। हर पार्टी अपने-अपने तरीके से जनता जर्नादन को खुश करने में लगी है, ताकि सीटों में बढ़ोतरी की जा सके। इसी में महागठबंधन की सहयोगी पार्टी कांग्रेस ने एक ऐसा चुनावी पासा फेंका है, जिससे JDU और नीतीश कुमार की नींद उड़ सकती है।

महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव ने कहा है कि देश के PM नरेंद्र मोदी और बिहार के CM नीतीश कुमार ने महिला सुरक्षा उनके विकास को मुद्दा जरूर बनाया पर उनके लिए किया कुछ भी नहीं। यह स्थिति तब है जबकि बिहार में अकेले 3.4 करोड़ महिला मतदाता हैं। सुष्मिता देव शनिवार को पटना में प्रेस से बात कर रही थी।

सुष्मिता ने कहा कि नीतीश सरकार और PM जो बेटी बचाओ का नारा देते हैं उन्होंने महिलाओं-बच्चियों के लिए कुछ नहीं किया। बिहार में स्वास्थ्य, शिक्षा, सुरक्षा और कुपोषण के मामले में महिलाओं की स्थिति बहुत खराब है। स्कूलों में महिलाओं के लिए शौचालय नहीं हैं। जिस वजह से स्कूलों में बच्चियों का ड्रॉपआउट रेट बहुत ज्यादा है। बिहार में मोदी जी का स्वच्छ भारत अभियान फेल हो चुका है।

उन्होंने कहा नीतीश कुमार पहले अपनी सभाओं में जीविका दीदी की बात करते थे, लेकिन अब जीविका दीदी नीतीश कुमार का विरोध कर रही हैं। उन्हें ना तो समय पर मानदेय मिलता है ना ही दूसरी कोई सुविधाएं। नीतीश कुमार जीविका दीदियों को अधिकार नहीं देना चाहते हैं। उन्होंने JDU प्रत्याशी मंजू वर्मा का नाम लेकर JDU को आरोप के कठघरे में खड़ा किया। एक प्रश्न पर बोली कि यदि किसी भी दल ने ऐसा किया है तो इसका फैसला जनता करेगी। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि दुष्कर्मी की सजा उसकी पत्नी को देना न्यायोचित नहीं।

कांग्रेस नेत्री ने दावा किया कि बिहार में महागठंबधन की हवा चल रही है। सरकार बनने पर कांग्रेस ने महिलाओं के लिए जो घोषणाएं की हैं उन्हें लागू किया जाएगा। महिला किसानों को पुरुषों जैसी सुविधा, जमीन निबंधन महिलाओं के नाम पर करने जैसे कार्य होंगे। महागठबंधन की सरकार बिहार में सुशासन का राज चलाएगी। कांफ्रेंस में राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा, प्रदेश प्रवक्ता राजेश राठौर, रिसर्च विंग के आनंद माधव के साथ ही प्रदेश महिला कांग्रेस की कई नेत्री मौजूद रहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *