demand for resignation

ब्रिटेन में प्रधानमंत्री जानसन की खतरे में कुर्सी? भारतीय मूल के ये बन सकते हैं पीएम

विदेश

ब्रिटेन (Britain) में लाकडाउन (Lockdown) के दौरान सरकारी आवास 10 डाउनिंग स्ट्रीट में पार्टी आयोजित होने के चलते प्रधानमंत्री बोरिस जानसन (PM Boris Johnson) आलोचकों के निशाने पर आ गए हैं। कोरोना (Corona) संक्रमण से बचाव के लिए लगे लाकडाउन (Lockdown) के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में अब उनके इस्तीफे की मांग उठ रही है। रिपोर्ट के मुताबिक यह पार्टी 17 अक्टूबर, 2021 को हुई थी जिसमें शामिल करीब 30 लोगों ने शराब पी थी और संगीत की धुन पर डांस किया था।
लाकडाउन के दौरान हुई पार्टी

जिस वक्त यह पार्टी हुए, तब पूरे ब्रिटेन (Britain) में घर के भीतर या किसी भी परिसर में भीड़भाड़ वाला आयोजन करने पर रोक लगी हुई थी। इस पार्टी की चर्चा इसलिए भी सरगर्म है क्योंकि उसका आयोजन ड्यूक आफ एडिनबर्ग प्रिंस फिलिप के अंतिम संस्कार से पूर्व की रात में हुआ था। यह वह समय था जब पूरा किंगडम शोक में डूबा हुआ था और ब्रिटेन का शाही परिवार भी लाकडाउन (Lockdown) के नियमों का पालन कर रहा था। यहां तक कि महारानी एलिजाबेथ द्वितीय भी शारीरिक दूरी के नियम का पालन करते हुए अपने पति के अंतिम संस्कार के मौके पर सबसे अलग अकेले बैठी थीं। ऐसे शोक के माहौल में आवास में पार्टी होने से जानसन नैतिकता से सवालों से भी जूझ रहे हैं।
जेम्स स्लैक ने मांगी सार्वजनिक रूप से माफी

प्रधानमंत्री आवास में लाकडाउन (Lockdown) के दौरान एक पार्टी और भी हुई थी। मामला उछलने के बाद प्रधानमंत्री के पूर्व संपर्क निदेशक जेम्स स्लैक ने पार्टी के आयोजन की जिम्मेदारी लेते हुए सार्वजनिक रूप से माफी मांगी है। स्लैक अब द सन अखबार के उप प्रधान संपादक हैं। हालांकि दोनों पार्टियों में प्रधानमंत्री जानसन शामिल नहीं हुए थे। वह उस दौरान बकिंघमशायर के कंट्री एस्टेट चेकर्स में समय बिता रहे थे। कुछ लोग उनके वहां जाने पर भी सवाल उठा रहे हैं। सरकार के मंत्री भी सर्वोच्च अधिकारी सू ग्रे से मामले की जांच कराए जाने पर जोर दे रहे हैं। इस सबके बीच सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी और सरकार में जानसन के नेतृत्व को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। पार्टी के कई सांसद भी इस मुद्दे पर जानसन का इस्तीफा मांग रहे हैं।

ऋषि सुनक बन सकते हैं प्रधानमंत्री

ब्रिटेन (Britain) में प्रधानमंत्री जानसन के इस्तीफे की मांग के जोर पकड़ने के साथ ही भारतीय मूल के वित्त मंत्री ऋषि सुनक के उनका स्थान लेने की संभावना भी मजबूत हो रही है। यूरोपीय यूनियन से अलगाव के बाद और कोरोना (Corona) संक्रमण काल में सुनक ने जिस प्रकार से ब्रिटेन के हितों की रक्षा की है उससे सरकार और कंजरवेटिव पार्टी में उनका कद बढ़ा है। वह जानसन के भी विश्वासपात्र हैं और गैर विवादित छवि वाले राजनीतिक व्यक्ति हैं। विदित हो सुनक भारत की दिग्गज आइटी कंपनी इन्फोसिस के संस्थापक नारायण मूर्ति के दामाद हैं। वैसे जानसन सरकार में प्रभावशाली मंत्री के रूप में गृह मंत्री प्रीति पटेल और कैबिनेट मंत्री आलोक शर्मा भी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *