भारत में 59 चीनी ऐप्स बैन का US ने किया सपोर्ट, कहा- चीन के खिलाफ एकजुट हों लोकतांत्रिक देश

विदेश

भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के बाद भारत ने जिस तरह से सख्ती बरतते हुए 59 चीनी ऐप्स को देश में बैन कर दिया था उसका समर्थन अब अमेरिका भी कर रहा है। बता दें मेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने बीते बुधवार को टिकटॉक समेत अन्य 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगाने के भारत के फैसले की सराहना की है। साथ ही उन्होंने चीन पर हमला करते हुए कहा कि बीजिंग देशों को धमका नहीं सकता और हिमालयी क्षेत्र में उन्हें परेशान नहीं कर सकता।

आपको बता दें पोम्पिओ ने कहा कि, “भारत के पास वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला को डायवर्ट करने का मौका है और दूरसंचार, मेडिकल आपूर्ति और अन्य क्षेत्रों में चीनी कंपनियों पर निर्भरता कम करने का माद्दा है। भारत इस स्थिति में है, क्योंकि इसने अमेरिका समेत कई देशों का विश्वास जीता है।”

भारत-चीन सीमा संघर्ष के संदर्भ में, पोम्पिओ ने बीजिंग पर अपने पड़ासियों को परेशान करने का आरोप लगाया और पूर्वी लद्दाख में भारत के साथ टकराव उकसाने के लिए दोषी ठहराया।

उन्होंने हालिया चीन की पीएलए के साथ भारत की झड़प का उदाहरण देते हुए कहा कि यह चीन का अस्वीकार्य व्यवहार था। उन्होंने गलवान घाटी में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

विदेश मंत्री ने कहा, “हम चाहते हैं कि पूरी दुनिया साथ मिलकर काम करे और चीन समेत अन्य देश अंतराष्ट्रीय व्यवस्था के उन तरीकों के तहत व्यवहार करे, जो उचित है और अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था के अनुरूप है।”

उन्होंने कहा, “आप उन समुद्री क्षेत्रों में अपना दावा नहीं कर सकते जहां आपका कानूनी अधिकार नहीं है। आप हिमालयी देशों को धमका और परेशान नहीं कर सकते।”

इतना ही नहीं अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने आगे कहा कि हम सिर्फ द्विपक्षीय बातचीत ही नहीं करते हैं, बल्कि सभी मामलों में दखल देते हैं, क्योंकि हम वैश्विक शक्तियां हैं। वास्तव में हर जगह बहुपक्षवाद ही काम करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *