हो गया बड़ा खुलासा ! इस वजह से चिराग पासवान ने NDA के साथ मिलकर नहीं लड़ा था बिहार चुनाव?

elections REVIEWS देश बिहार राजनीति

बिहार चुनाव में चिराग पासवान की पार्टी लोजपा एनडीए से अलग होकर लड़ी थी, जिससे NDA के कई घटक दलों को काफी नुकसान हुआ. हालांकि इस चुनाव में पार्टी को बड़ी सफलता नहीँ मिली। अब चिराग पासवान के JDU BJP से अलग होकर चुनाव लड़ने को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है।

LJP के पूर्व विधायक राजू तिवारी ने JDU महासचिव केसी त्यागी को पत्र लिखा है। राजू तिवारी ने अपने पत्र मेंं कहा, ‘ नीतीश कुमार के ज़्यादा सीट पर लड़ने के ज़िद के कारण NDA का बिहार में बुरा प्रदर्शन रहा।’ तिवारी ने आगे कहा कि नीतीश कुमार चिराग पासवान (Chirag Paswan) को बीमार पिता के इलाज में फँसे देख JDU के लिए 122 और लोजपा को मात्र 15 सीट देना चाहते थे। उन्होंने कहा कि RJD के साथ मात्र 101 सीट पर लड़ने वाले नीतीश ने कैसे ली 122 सीट यह लालच का प्रतीक है।

लोजपा बिहार ससंदीय बोर्ड के अध्यक्ष राजू तिवारी ने पत्र में आरोप लगाया है कि लोजपा के ‘बिहार फर्स्ट, बिहारी फर्स्ट’ को घोषणापत्र में शामिल नहीं किया गया। चिराग पासवान के इस विजन को दरकिनार किया गया, जिससे लोजपा के समर्थक आहत हुए।

नीतीश के कारण मांझी और सहनी को हुआ नुकसान- राजू तिवारी ने चिट्ठी में बड़ा दावा किया है। तिवारी ने कहा है कि नीतीश कुमार के कारण हम पार्टी के जीतनराम मांझी और वीआईपी के मुकेश सहनी को नुकसान हुआ। बता दें कि दोनों दलों को इस चुनाव में चार-चार सीटें मिली थी। बताते चलें कि बिहार चुनाव में लोजपा अलग होकर चुनाव लड़ी थी। इस चुनाव में पार्टी ने करीब 145 सीटों पर उम्मीदवार उतारे थे, हालांकि सिर्फ एक सीट पर सफलता मिली। LJP के राजकुमार सिंह मटिहानी से चुनाव लड़े थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *