बिहार में बाढ़ की स्थिति विस्फोटक, कोसी, बागमती, कमला, अधवारा, महानंदा नदियां खतरे के निशान से ऊपर

NEWS Top News प्राकृतिक आपदा बिहार

मौसम विज्ञान विभाग ने 22 जुलाई तक नेपाल के तराई क्षेत्रों और उसके नजदीक उत्तर बिहार के कुछ जिलों में भारी वर्षा होने का पूर्वानुमान एवं चेतावनी जारी किया है। जिसके बाद आपदा प्रबंधन विभाग ने सीमावर्ती 9 जिलों को अलर्ट करार दिया है। विभाग ने अत्याधिक बारिश की चेतावनी को देखते हुए संभावित बाढ़ वाले इलाकों में निगरानी बढ़ाने को कहा है।

मुख्य नदियों के साथ ही सहायक नदियां भी बारिश के कारण उफान मार रही है। अलग-अलग जिलों में डूबने से सोमवार को 6 लोगों की मौत की सूचना है। नदियों के किनारे बसे गांवों के लोग पूरी रात जागने को मजबूर हैं। विभाग की ओर से अलर्ट जारी किया गया है।

सुपौल से मिल रही खबर के मुताबिक, कोसी के जल अधिग्रहण क्षेत्र में विगत 2 दिनों से हो रही भारी बारिश के कारण नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी शुरू हो गयी है। वहीं कोसी की सहायक नदियां भी रौद्र रूप दिखाने लगी है। सोमवार के अपराह्न 04 बजे वीरपुर स्थित कोसी बराज पर दी का डिस्चार्ज 01 लाख 77 हजार 795 क्यूसेक दर्ज किया गया. जो बढ़ने के क्रम में था।

गंडक, कमला बलान, बागमती एवं अधवारा समूह की अन्य नदियों के जल संग्रह क्षेत्रों में लगातार हो रही वर्षा के कारण इनके जलस्तर में वृद्धि होने की संभावना है। इससे दरभंगा मधुबनी, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर और खगड़िया जिला के साथ-साथ पूर्वी चंपारण, शिवहर, समस्तीपुर एवं बेगूसराय जिलों को में विशेष सतर्कता बरतने की आवश्यकता जतायी है।

आपदा प्रबंधन विभाग ने सभी जिलों से निगरानी रखने और संभावित बाढ़ के मद्देनजर सभी आवश्यक कार्रवाई कर लेने का निर्देश दिया है। जिन क्षेत्रों में बाढ़ आने की प्रबल संभावना हो वहां पर लोगों को सचेत करने जरूरत पड़ने पर निवासियों को सुरक्षित स्थानों पर शरण स्थलों पर ले जाने की व्यवस्था के निर्देश दिये गये हैं।

केंद्रीय जल आयोग के अनुसार कोसी नदी का जलस्तर खगड़िया जिले के बलतारा में खतरे के निशान से 152 सेमी ऊपर था। गंडक नदी का जलस्तर गोपालगंज के डुमरिया घाट पर खतरे के निशान से 98 सेंमी ऊपर था। बूढ़ी गंडक नदी रोसड़ा में खतरे के निशान से 34 सेमी ऊपर बह रही थी। बागमती नदी ढेंग ब्रिज पर खतरे के निशान से 10 सेंटीमीटर ऊपर, रुन्नीसैदपुर में 17 सेंमी, बेनीबाद में 65 सेमी और हायाघाट में 30 सेंमी ऊपर बह रही थी. इस के जलस्तर में मंगलवार को भी बढ़ोतरी की संभावना है।

कमला बलान का जलस्तर जयनगर नगर में 23 सेमी और झंझारपुर रेल पुल के पास खतरे के निशान से 37 सेमी ऊपर था। अधवारा समूह की नदियां कमतौल में 90 सेंमी और एकमीघाट में खतरे के निशान से 44 सेमी ऊपर बह रही थी। महानंदा नदी ढेंगरा घाट में खतरे के निशान से 54 सेमी और झावा में 39 सेंमी ऊपर बह रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *