Monsoon Rain 2021

Delhi Weather: बेमौसम बारिश से बढ़ी ठंड,जानें किन इलाकों में तेज बारिश का अलर्ट जारी

देश मौसम

दिल्ली और इसके आसपास के इलाकों में मौसम अगले 2 घंटों में बदलने वाला है। हल्की बारिश के साथ दिल्ली एवं इसके आसपास के इलाके में ठंड का एहसास होने लगा है। वहीं, मौसम विभाग के अनुसार हल्की बारिश के साथ कुछ इलाकों में तेज बारिश भी हो सकती है। आइएमडी (Indian Metrological Department) के अनुसार पूरी दिल्ली, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, पिलखुआ, भरूत, हापुड़, गाजियाबाद, मोदीनगर, दादरी, छपरौला, यमुनानगर, सोनीपत, खरखौदा, गनौर, जींद, फारुखनगर, रेवाड़ी, बावल, मानेसर, गुरुग्राम, फरीदाबाद, हांसी, नारनौल, करनाल, कैथल इलाके में हल्की और तेज बारिश के आसार व्यक्त किए गए हैं।
हल्की बारिश से तापमान में आयी गिरावट

हल्की बारिश के कारण मौसम (Weather) का मिजाज पूरी तरह से बदल गया है। मौसम में ठंडक आ गई है। लोगों ने ठंड का एहसास करना शुरू कर दिया है। बता दें कि शनिवार को धूप के अहसास के बाद अब हल्की ठंड ने ठंडे कपड़ों की याद दिला दी है। वहीं अभी बादल के गरजने और बरसने की गुंजाइश बनी हुई है। बता दें कि अगर बारिश तेज होती है तो ठंड भी बढ़ जाएगी।
बारिश ने दिया दोहरा झटका, किक्रेटप्रेमी निराश

अमूमन वीकेंड में बारिश के कारण मौसम सुहाना हो जाता है। लेकिन इस बार आज की बारिश ने दोहरा झटका दिया है। पहला तो करवा चौथ पर सुहागिनों को चांद का दीदार करने मौका नहीं मिल पा रहा है वहीं दूसरा झटका तब लगा जब इंडिया और पाकिस्तान (Pakistan) का किक्रेट मैच शुरू हुआ। शुरू होते ही बारिश ने डीटीएच के सिग्नल में खलल डाल दिया। पहली गेंद डालने के लिए बॉलर दौड़ा ही की तेज बारिश की वजह से डीचीएच के सिग्नल गुल हो गए। इससे किक्रेट प्रेमी निराश हो गए। बता दें कि इंडिया और पाकिस्तान (India Vs Pakistan) का मैच हमेशा से भारत और पाकिस्तान (Pakistan) के लोगों के बीच एक अलग रोमांच पैदा करता है।

READ MORE:   सपा ने जारी किए 12 जिलाध्याक्षों के नाम, मैनपुरी और इटावा समेत अन्य जिले शामिल


इधर, दिल्ली में हवा की गुणवत्ता अभी खराब होने की गुंजाइश बनी हुई है। इसके दो बड़े कारण हैं। पहली यह है कि राजस्थान की ओर से धूल भरी हवा का आना वहीं दूसरा यह है कि पराली जलाने की घटना के कारण यहां पर हवा दमघोंटू हो जाती है। इसके कारण कई बार लोगों को परेशानी भी होती है मगर इस समस्या का कोई फिक्स समाधान नहीं निकल पाया है। वैसे बता दें कि अगले तीन तक हवा की गुणवत्ता मध्यम श्रेणी में रहने की आशंका है। वहीं, सीपीसीबी के अनुसार पंजाब में पराली जलाने की 1111 व हरियाणा में 140 घटनाएं सामने आई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *