बिहार के नवादा में CBI की टीम पर हमला, यूजीसी नेट पेपर लीक की जांच करने पहुंची थी टीम

मामले को लेकर टीम को लीड कर रहे सीबीआई अधिकारी की ओर से रजौली थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. हमला उस समय किया गया जब शनिवार को लगभग 4 बजे सीबीआई की टीम नवादा पुलिस बल के साथ मुरहेना के कसियाडीह गांव निवासी फूलचंद प्रसाद व उनकी पत्नी बबिता देवी के घर की तलाशी लेकर वापस लौट रही थी

यूजीसी नेट पेपर मामले में बिहार के नवादा में जांच करने पहुंची सीबीआई टीम पर गांव वालों ने हमला कर दिया. ग्रामीणों ने सीबीआई टीम को नकली टीम समझकर उसमें शामिल अधिकारियों से मारपीट की. जब उन्हें ये भरोसा हुआ कि ये असली सीबीआई टीम है तब उन्हें छोड़ा गया. इस मामले में चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

यूजीसी नेट परीक्षा को शिक्षा मंत्रालय की ओर से रद्द कर दिया गया था. इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई है. मामले की जांच कर रही टीम शनिवार रात मोबाइल लोकेशन के आधार पर बिहार के नवादा गांव में पहुंची थीं. यहां टीम लोगों से पूछताछ कर ही रही थी कि तभी गांव वालों ने नकली सीबीआई टीम समझ अधिकारियों पर हमला कर दिया. गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई. जब अधिकारियों ने अपना परिचय दिया तो ग्रामीणों ने उन्हें छोड़ा.

सीबीआई टीम को नकली बताकर हमला

यूजीसी नेट परीक्षा को शिक्षा मंत्रालय की ओर से रद्द कर दिया गया था. इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई है. मामले की जांच कर रही टीम शनिवार रात मोबाइल लोकेशन के आधार पर बिहार के नवादा गांव में पहुंची थीं. यहां टीम लोगों से पूछताछ कर ही रही थी कि तभी गांव वालों ने नकली सीबीआई टीम समझ अधिकारियों पर हमला कर दिया. गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई. जब अधिकारियों ने अपना परिचय दिया तो ग्रामीणों ने उन्हें छोड़ा.

सीबीआई टीम को नकली बताकर हमला

शनिवार को लगभग 4 बजे सीबीआई की टीम नवादा पुलिस बल के साथ मुरहेना के कसियाडीह गांव निवासी फूलचंद प्रसाद व उनकी पत्नी बबिता देवी के घर की तलाशी लेकर लोटने ही वाली थी कि करीब 200-300 लोगों की भीड़ जमा हो गई. ग्रामीणों ने सिविल ड्रेस में रहे सीबीआई टीम को नकली बताकर घेर लिया.

हालांकि, सीबीआई अधिकारियों ने अपना पहचान पत्र भी दिखाया. साथ ही नवादा नगर थाना की महिला सिपाही काजल कुमारी की ओर से भी लोगों को समझाने का प्रयास किया गया. इसके बाद भी भीड़ ने एक न सुनी और अधिकारियों के साथ बदतमीजी करने लगे. मामला बढ़ते देख सीबीआई की टीम ने रजौली थाना की पुलिस को इसकी सूचना दी. पुलिस जब तक पहुंचती उससे पहले ही ग्रामीणों ने सीबीआई की टीम पर हमला बोल दिया. हमले में सीबीआई टीम की गाड़ी चला रहे संजय सोनी घायल हो गए.

क्या करने गांव में गई थी टीम ?

बताया जा रहा है कि यूजीसी नेट पेपर लीक मामले में गिरफ्तार एक युवक की निशानदेही पर कसियाडीह की एक युवती की तलाश में सीबीआई की टीम पहुंची थी. छापेमारी में सीबीआई टीम ने दो मोबाइल के साथ कुछ बैंक पासबुक और यूजीसी नेट से संबंधित कुछ कागजात बरामद कर अपने साथ ले गई है.

हमले को लेकर पुलिस ने दर्ज किया केस

हालांकि, नवादा पुलिस ने बताया है कि सीबीआई की टीम ने दो मोबाइल फोन जब्त कर अपने साथ ले गई है.

थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने कहा कि सीबीआई और पुलिस की टीम पर हुए हमले को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. एक युवती समेत कुल चार लोगों को गिरफ्तार किया.

उन्होंने कहा कि गिरफ्तार लोगों में कसियाडीह गांव निवासी फूलचंद प्रसाद की पुत्री राधा कुमारी उर्फ मधु, श्रवण कुमार के बेटे प्रिंस कुमार, चुनचुन प्रसाद के बेटे ललन कुमार और राजेन्द्र प्रसाद के बेटे अमरजीत कुमार के रूप में की गई है. सभी गिरफ्तार लोगों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है

बिहार के इन 2 हजार लोगों का धर्म क्या है? विश्व का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड कौन सा है? दंतेवाड़ा एक बार फिर नक्सली हमले से दहल उठा SATISH KAUSHIK PASSES AWAY: हंसाते हंसाते रुला गए सतीश, हृदयगति रुकने से हुआ निधन India beat new Zealand 3-0. भारत ने किया कीवियों का सूपड़ा साफ, बने नम्बर 1