UP पंचायत चुनाव 2021 : 25 दिसंबर से छिन जाएंगे प्रधानों के अधिकार, ग्राम पंचायतों में ADO बनेंगे प्रशासक

elections NEWS उत्तर प्रदेश देश

ग्राम पंचायतों का कार्यकाल 25 दिसंबर खत्म हो जाएगा। इसलिए प्रत्येक गांव में ADO पंचायत को प्रशासक नियुक्त किया जाएगा। इसी के साथ ही ग्राम पंचायत के विकास में प्रधानों का अधिकार समाप्त हो जाएगा। प्रशासक की नियुक्ति के लिए पंचायत राज विभाग में प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। अधिकार समाप्त होने से पहले प्रधान तेजी से विकास कार्य कराने और भुगतान कराने की प्रक्रिया में जुट गए हैं।

प्रधान, पंचायत सदस्य, जिला पंचायत सदस्य, BDC के चुनाव को लेकर गांवों में गहमागहमी चल रही है। चुनाव लड़ने के लिए दावेदारी करने वाले अभी से लोगों को अपने पक्ष में करने में जुट गए हैं और 1-1 वोट का अभी से बंदोबस्त कर रहे हैं। मतदाता सूची में नाम शामिल कराने और विरोधियों के नाम कटवाने के भी खेल किए जा रहे हैं। लोगों से पूछ-पूछ कर सूची में नाम है या नहीं और फिर उनका फार्म भरवा रहे हैं। DPRO ने प्रशासकों की नियुक्ति के लिए अभिलेख तैयार करना शुरू कर दिया है।

इस बार BJP ने भी पंचायत चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है। पार्टी प्रत्येक पद के लिए दावेदारों की तलाश में जुटी हुई है। बकायदा स्क्रीनिंग तक की जा रही है। BSP ने भी कार्यकर्ताओं को एकजुट रखने के लिए पंचायत चुनाव में उतरने का मन बना लिया है। पार्टी के मुख्य सेक्टर प्रभारी, मंडल प्रभारी जिलों में जाकर बैठक कर रहे हैं और चुनाव की तैयारी में जुट गए हैं।

SP तो हर बार पूरे दमखम के साथ चुनाव लड़ती रही है। तो इस बार भी पार्टी तैयारी में जुटी हुई है। कांग्रेस ने भी इस चुनाव में मुकाबले को रोचक बनाने की तैयारी शुरू कर दी है। चुनाव की तिथि अभी घोषित नहीं हुई है लेकिन परिसीमन और मतदाता सूची के पुनरीक्षण का कार्य चल रहा है। चुनाव की दावेदारी कर रहे लोग अभी इस बात पर निगाह लगाए हुए हैं कि उनके गांव की सीट किस जाति के लिए आरक्षित होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *