शीर्ष अमेरिकी खुफिया अधिकारी का सनसनीखेज दावा- सुपर सैनिक विकसित करने के लिए मानव परीक्षण में जुटा चीन

Special Report टेक्नोलॉजी विदेश

अमेरिका के एक शीर्ष खुफिया अधिकारी ने बताया है कि चीन जैविक रूप से संवर्धित क्षमताओं वाले सुपर सैनिकों के विकास के लिए पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) पर परीक्षण कर रहा है। अमेरिका के राष्ट्रीय खुफिया विभाग के निदेशक जॉन रैटक्लिफ ने वाल स्ट्रीट जर्नल में लिखे एक लेख में यह दावा किया है। इसमें उन्होंने कहा है कि चीन अमेरिका के लिए एक प्रमुख राष्ट्रीय खतरे के तौर पर उभर रहा है।

रैटक्लिफ के अनुसार, आज की तारीख में चीन अमेरिका के लिए सबसे बड़ा खतरा है। यह द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद वैश्विक रूप से भी लोकतंत्र और स्वतंत्रता के लिए बड़ा खतरा है। हमारी खुफिया सूचना स्पष्ट है। बीजिंग अमेरिका और पूरी दुनिया पर आर्थिक, सैनिक और तकनीकी रूप से अपना वर्चस्व स्थापित करना चाहता है। रैटक्लिफ के दावे पर उनके कार्यालय या सीआइए ने तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

पिछले साल दो अमेरिकी विद्वानों-एल्सा कानिया और विल्सन वोर्नडिक ने भी एक लेख लिखकर चीन की महत्वाकांक्षी योजना पर प्रकाश डाला था। इसमें उन्होंने कहा था कि चीन लड़ाई के मैदान में जैव प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करना चाहता है। उसकी दिलचस्पी मानवों और संभवत: सैनिकों की क्षमता बढ़ाने के लिए जीन संपादन प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करने में है।

READ MORE:   रणनीतिक और वैश्विक साझेदारी को मजबूत करने के लिए भारत के साथ मिलकर करेंगे काम - तोशिमित्सु मोतेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *