Bihar Assembly Election 2020

बिहार का रण: आरजेडी ने किया उम्मीदवारों एलान-जानिए लिस्ट

elections NEWS Top News

महागठबंधन में बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सीटों का बंटवारा हो चुका है। इसके बाद अब प्रत्‍याशियों की सूची जारी करने किए जाने की बारी है। राष्‍ट्रीय दल ने अपने प्रत्‍याशियों पहली सूची के नाम की घोषणा शुरू कर दी हे। हालांकि, पूरी सूची की औपचारिक घोषणा अभी तक नहीं की गई है। पार्टी के कई नेताओं के टिकट कट गए हैं। हालांकि, बड़े नेताओं को कहीं न कहीं से एडजस्‍ट कर लिया गया है। बताया जा रहा है कि नवादा से दुष्‍कर्म के मामले में सजायाफ्ता राजबल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी को टिकट दिया गया है।

मिली जानकारी के अनुसार आरजेडी RJD ने बोधगया से सर्वजीत कुमार, रोहतास के नोखा से अनीता देवी, जमुई से विजय प्रकाश, भोजपुर के जगदीशपुर से रामविशुन लोहिया, रामगढ़ से आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के बेटे सुधाकर कुमार सिंह, बेलहर से रामदेव यादव, झाझा से राजेंद्र यादव, मखदुमपुर से सूबेदार दास, भोजपुर के शाहपुर से राहुल तिवारी, जहानाबाद से सुदय यादव, चकाई से सावित्री देवी, नवीनगर से डब्लू सिंह एवं बेला से सुरेंद्र यादव को प्रत्‍याशी बनाया गया है। नवादा से राजबल्लभ यादव की पत्नी विभा देवी को टिकट दिया गया है।

नेताओं को भी टिकट मिलने की उम्‍मीद

ओबरा विधानसभा सीट से पूर्व केंद्रीय मंत्री कांति सिंह के बेटे चुनाव मैदान में कूद सकते हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री जयप्रकाश यादव की बेटी दिव्या प्रकाश को मुंगेर की तारापुर सीट से RJD का टिकट मिल सकता है। पूर्व मंत्री विजय प्रकाश जमुई सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। मधुबनी से समीर कुमार महासेठ एवं गोह से भीम सिंह प्रत्‍याशी हो सकते हैं।

वैशाली की महनार या लालगंज सीट पर पूर्व सांसद रामा सिंह का दावा है। इनमें किसी एक सीट पर RJD नेता विशुनदेव राय के भतीजे डॉ. मुकेश रंजन का भी दावा है। बताया जा रहा है कि तेजस्वी यादव ने दोनों दावेदारों को आमने-सामने बैठा कर बात की, लेकिन महनार सीट पर फंसा पेंच हल नहीं हो सका। दोनों को आज सुबह भी राबड़ी आवास बुलाया गया है।

कई नेताओं के टिकट भी कटने तय लग रहे हैं। सूत्रों के अनुसार भोजपुर की बड़हरा सीट से विधायक सरोज यादव का टिकट कट सकता है। वहां पूर्व मंत्री राघवेंद्र प्रताप सिंह या बीडी सिंह रेस में हैं। रोहतास के काराकाट से विधायक संजय यादव का टिकट भी कटना तय लग रहा है। उनकी सीट सीपीआइ एम-एल के पास चली गई है।

हाल ही में जनता दल यूनाइटेड (JDU) से पाला बदल कर RJD में आए Shyam Rajak का टिकट भी फंसता दिख रहा है। श्‍याम रजक की फुलवारी सीट CPI एमएल को मिल गई है। मिली श्‍याम रजक की फुलवारी सीट भारतीय कम्‍युनिस्‍ट पार्टी माले के खाते में चली गई है। अब श्‍याम रजक को कहीं और से एडजस्‍ट करने की बात चल रही है। हालांकि इसपर अभी तक फैसला नहीं हो सका है। श्‍याम रजक के पास मसौढ़ी से चुनाव लड़ने का विकल्‍प है, लेकिन तब वहां मौजूदा RJD विधायक रेखा पासवान का पेंच फंसेगा। रेखा पासवान मसौढ़ी से प्रत्‍याशी हो सकती हैं।

विदित हो कि शनिवार को महागठबंधन में सीट शेयरिंग की घोषणा कर दी गई, जिसमें RJD को 144 सीटें मिली हैं। RJD की कई सीटें सहयोगी दलों के खाते में चली गईं हैं। इस कारण नाराज पांच विधायकों के RJD छोड़ने की भी आशंका है। इनमें तेज प्रताप यादव के निकट माने जाने वाले संजय यादव भी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *