congress leader

राजस्थान में जारी घमासान के बीच राहुल गांधी बोले,”जिसे जाना है, वो पार्टी छोड़ के जा सकता है

NEWS Top News

नई दिल्ली- राजस्थान में सचिन पायलट समेत लगभग डेढ़ दर्जन Congress विधायकों की बगावत के बीच कांग्रेस छोड़ कर जाने वाले नेताओं को लेकर Rahul Gandhi का कड़ा रुख सामने आया है। सूत्रों के अनुसार पूर्व Congress अध्यक्ष Rahul Gandhi ने कहा है कि जिसे जाना है जाएगा, पार्टी छोड़ कर जाने वालों से डरने की जरूरत नहीं है।

कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई के राष्ट्रीय पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई बैठक में राहुल गांधी ने कहा कि पार्टी छोड़ कर जाने वालों से घबराने की जरूरत नहीं है, उल्टे ऐसे लोग युवा पीढ़ी के लिए रास्ते खाली कर रहे हैं। बैठक में मौजूद विश्वस्त सूत्रों के अनुसार राहुल ने कहा, “जिसे जाना है, वो जाएगा।”

इस बैठक में राहुल गांधी के साथ एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन, प्रभारी रुचि गुप्ता और राष्ट्रीय पदाधिकारियों के साथ Congress के संगठन महासचिव के सी वेणुगोपाल भी मौजुद रहे, जो फिलहाल राजस्थान के राजनीतिक संकट के बीच जयपुर में हैं।

Rahul Gandhi का यह बयान तब आया है जब Congress के अंदर से ही कई नेताओं ने सचिन पायलट को लेकर सहानुभूति दिखाई है। लेकिन राहुल का बयान पार्टी के सख्त रुख के अनुकूल ही आया है। Congress नेतृत्व ने सचिन को मनाने की कोशिश तो की लेकिन जब सचिन जिद पर अड़े तो कार्रवाई करने में देर नहीं लगाई।

सूत्रों के अनुसार खुद Rahul Gandhi ने भी सचिन से बात की। लेकिन पहले कार्रवाई और अब दो टूक बयान देकर राहुल गांधी ने साफ कर दिया है कि वह किसी नेता के दबाव में नहीं आने वाले। सचिन के बगावत के बावजूद राजस्थान में Congress ने फिलहाल अपनी सरकार तो बचा ली है लेकिन पार्टी की खूब किरकिरी हुई है। इस हालात के लिए कई लोग Congress अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी के नेतृत्व में कमी को कारण मानते हैं।

कुछ महीनों पहले ही ज्योतिरादित्य सिंधिया अपनी उपेक्षा का आरोप लगा कर कांग्रेस छोड़ BJP में शामिल हो गए और मध्य प्रदेश की कांग्रेस सरकार भी चली गई।

अब अशोक गहलोत सरकार में उपेक्षा का आरोप लगाकर सचिन पायलट और उनके डेढ़ दर्जन विधायक दिल्ली-एनसीआर में जमें हुए हैं। मनाने के लिए Rahul Gandhi समेत कई Congress नेताओं ने सचिन पायलट से बात की। मान-मनौवल की कोशिशें नाकाम रहने के बाद कांग्रेस ने सचिन पायलट को उपमुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटा दिया। उनके गुट के मंत्रियों को भी पद से हटाया गया गया और सचिन समेत सभी बागी विधायकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। Congress अभी भी सचिन पायलट और उनके कैम्प के विधायकों को बिना शर्त साथ आने की अपील कर रही है। दूसरी तरफ सचिन कह रहे हैं कि वह BJP में शामिल नहीं होंगे, लेकिन उनके घर वापसी की संभावना भी कम लग रही है।

जहां तक एनएसयूआई की बैठक की बात है तो सूत्रों ने बताया कि Rahul Gandhi ने कहा कि आने वाले दिनों में अर्थव्यवस्था के हालात काफी खराब होंगे। राहुल ने कहा कि उन्होंने फरवरी की शुरुआत में ही आर्थिक सुनामी की चेतावनी दे दी थी, लेकिन सरकार ने ध्यान नहीं दिया। राहुल ने कहा कि अर्थव्यवस्था के बिगड़ते हालात की वजह कोरोना तो है ही साथ ही इसके पीछे मोदी सरकार द्वारा लिए गए नोटबन्दी जैसे फैसले और गलत तरीके से लागू किया गया GST है। राहुल गांधी ने Congress के छात्र संगठन के नेताओं को आने वाले दिनों में मुश्किलों में फंसे लोगों की मदद करने को कहा।

एनएसयूआई लगातार केंद्र सरकार से मांग कर रही है कि Corona महामारी के मद्देनजर कॉलेजों की सभी परीक्षाएं रदद् की जाए। इसको लेकर एनएसयूआई ने पिछले हफ्ते सोशल मीडिया पर ‘स्पिक अप इंडिया’ अभियान चलाया। Rahul Gandhi ने इस अभियान की तारीफ की और छात्रों की आवाज उठाते रहने के निर्देश दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *