business news

आज से सस्ता सोना खरीदने का मौका दे रही सरकार,जानिए आज का रेट

कारोबार देश

आज से सॉवरेन Gold Bond में सब्सक्रिप्शन का मौका खुल रहा है। केंद्र सरकार की तरफ से RBI ने इस बार गोल्ड सब्सक्रिप्शन की कीमत 5,051 रुपये प्रति ग्राम तय किया है। सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम का डिस्काउंट भी मिलेगा। ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों के लिए यह भाव 5,001 रुपये प्रति ग्राम होगा। यह सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2020-21-सीरीज का सातवां मौका है। निवेशकों के पास इसमें निवेश करने के लिए आज से लेकर 16 अक्टूबर तक का मौका है।


गोल्ड बॉन्ड्स की मैच्योरी अवधि 8 साल की होती है। हालांकि, निवेश के पांचवें साल के बाद ​इससे बाहर निकला जा सकता है। मैच्योरिटी पर मिलने वाले गोल्ड का भाव तत्कालीन भाव के आधार पर ही होता है। अगर आप भी इसमें निवेश करना चाहते हैं तो सबसे पहले इन बातों को जान लेना चाहिए।

सॉवरेन Gold Bond स्कीम में एक वित्तीय वर्ष में एक व्यक्ति अधिकतम 400 ग्राम सोने के बॉन्ड खरीद सकता है। वहीं न्यूनतम निवेश एक ग्राम का होना जरूरी है। इस स्कीम में निवेश करने पर आप टैक्स बचा सकते हैं। बॉन्ड को ट्रस्टी व्यक्तियों, HUF, ट्रस्ट, विश्वविद्यालयों और धर्मार्थ संस्थानों को बिक्री के लिए प्रतिबंधित किया जाएगा।


वहीं ग्राहक की अधिकतम सीमा 4 किलोग्राम प्रति व्यक्ति, एचयूएफ के लिए 4 किलोग्राम और ट्रस्टों के लिए 20 किलोग्राम और प्रति वित्तीय वर्ष (अप्रैल-मार्च) समान होगी। सॉवरेन Gold Bond के हर आवेदन के साथ निवेशक PAN जरूरी है। सभी कमर्शियल बैंक डाकघर, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड (एसएचसीआईएल), नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ़ इंडिया लिमिटेड और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज या सीधे एजेंटों के माध्यम से आवेदन प्राप्त करने और ग्राहकों को सभी सेवाएं प्रदान करने के लिए अधिकृत हैं।

READ MORE:   जब डॉक्टर लाचार, कैसे बचेगा बिहार? जानिए क्या है पूरा मामला


Gold Bond पर सालाना 2.5 फीसदी का ब्याज मिलेगा। निवेशकों को कम से कम 1 ग्राम का बॉन्ड खरीदने की भी सुविधा मिलती है। निवेशकों को Gold Bond के बदले लोन लेने की भी सुविधा है। पूंजी और ब्याज दोनों की सरकारी गारंटी मिलती है। इंडिविजुअल को लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स नहीं देना होगा। कर्ज लेने के लिए Gold Bond का इस्तेमाल कोलेट्रल के रूप में किया जा सकता है। इसके अलावा Gold Bond में निवेश करने पर टीडीएस (TDS) भी नहीं कटता है।

  1. सॉवरेन गोल्ड का बॉन्ड का यह इश्यू एक ऐसे समय पर आ रहा है जब अगस्त महीने में उच्चतम स्तर पर पहुंचने के बाद सोने के दाम में गिरावट देखने को मिल रही है। वायदा बाजार में 10 ग्राम सोने का भाव करीब 56,200 रुपये है।
  2. आरबीआई ने Gold Bond के तहत सोने का भाव इंडियन बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन द्वारा पब्लिश की जाने वाली औसत क्लोजिंग प्राइस के आधार पर तय की है। यह 999 शुद्धता वाले सोने के लिए है।
  3. सॉवरेन Gold Bond को भारतीय रिज़र्व बैंक जारी करती है। इसे केंद्र सरकार की तरफ से जारी किया जाता है।
  4. सॉवरेन Gold Bond स्कीम को नवंबर 2015 में लॉन्च किया गया था। देश में फिजिकल गोल्ड की मांग को कम करने और लोगों को गोल्ड के जरिए घरेलू बचत और वित्तीय बचत के लिए शुरू किया था।
  5. इस स्कीम के तहत न्यूनतम 1 ग्राम सोने में निवेश किया जा सकता है।
  6. Gold Bond को स्मॉल फाइनेंस बैंकों या पेमेंट बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन आफ इंडिया, पोस्ट ऑफिस, व NSE और BSE के जरिए निवेश किया जा सकता है।
  7. जानकारों का मानना है कि नॉन-फिजिकल गोल्ड में निवेश करने के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड एक प्रभावी तरीका है। अगर Gold Bond में निवेश करने वाला मैच्योरिटी तक रुकता है तो उन्हें इसके कई फायदे मिलते हैं।
  8. गोल्ड बॉन्ड पर सालाना 2.50 फीसदी की दर से ब्याज भी मिलता है।
  9. Gold Bond में निवेश करने की सबसे खास बात है कि इसके स्टोरेज की चिंता नहीं करनी होती है। इसे डीमैट में रखने पर कोई GST भी देय नहीं होता है।
  10. अगर Gold Bond के मैच्योरिटी पर कोई कैपिटल गेन्स बनता है तो इसपर छूट मिलेगी। गोल्ड बॉन्ड पर मिलने वाली यह एक एक्सक्लुसिव लाभ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *