southern China

China Floods: चीन के दक्षिणी इलाकों में बाढ़ के आसार, पर्ल नदी उफान पर

China’s Record Floods: दक्षिणी चीन के कुछ हिस्सों में गुरुवार को रिकॉर्ड बाढ़ (China Floods) की आशंका जताई जा रही है, क्योंकि भारी बारिश ने पर्ल नदी (Pearl River) के बेसिन में पानी के स्तर को लगभग एक सदी में अपने अधिकतम स्तर पर पहुंचा दिया है। बाढ़ की आंशका के चलते सबसे अधिक प्रभावित इलाकों से सैकड़ों -हजारों लोगों को निकाला गया है। इन प्रभावित इलाकों में ग्वांगडोंग प्रांत ( Guangdong province) भी है जो चीन की तकनीकी राजधानी शेन्ज़ेन (Shenzhen) के लिए विनिर्माण और रसद ( Manufacturing And Logistics Hub) का हब माना है। चीन के जल संसाधन मंत्रालय ने बुधवार को पर्ल रिवर (Pearl River) बेसिन पर सबसे ज्यादा बाढ़ की चेतावनी देते हुए कहा कि एक जगह पर पानी का स्तर “ऐतिहासिक रिकॉर्ड को पार कर गया” और प्रांतीय राजधानी गुआंगझोउ इससे प्रभावित होगा।

पानी से भरी सड़कों पर रास्ता बनाते दिखे लोग

बुधवार को ग्वांगझोउ (Guangzhou) के उत्तर में शोगुआन (Shaoguan) शहर में लोगों को पानी से भरी मुख्य सड़कों में रास्ता बनाते हुए देखा गया, क्योंकि कई इलाकों में पानी कार की छतों तक पहुंच गया था। गंदे पानी की वजह से दुकानें और इमारतें जलमग्न हो गईं और लोग मलबा हटाते नजर आए। निचला पर्ल नदी बेसिन ग्वांगझोउ और शेन्ज़ेन के आर्थिक पावरहाउस के तौर पर जाना जाता है। इसके साथ ही यह इलाका कई प्रमुख विनिर्माण और अन्य उद्योगों के साथ कई छोटे लेकिन घनी आबादी वाले शहरों का हब है।

मिलियन डॉलर नुकसान का अनुमान

इस सप्ताह की शुरुआत में प्रांतीय आपातकालीन प्रबंधन अधिकारियों (Provincial Emergency Management Authorities ) ने 1.7 बिलियन युआन (253 मिलियन डॉलर) प्रत्यक्ष आर्थिक नुकसान होने का अनुमान लगाया था. इस गंभीर स्थिति को देखते हुए हाई अलर्ट के के तहत, ग्वांगडोंग के जोखिम वाले इलाकों में नुकसान को कम करने के लिए कारखानों में काम को कुछ वक्त के लिए रोकने और स्कूलों को बंद करने सहित सभी जरूरी उपाय करने का आदेश दिया गया है।

कई इलाकों से किया लोगों ने पलायन

दक्षिणी चीन के तटीय फ़ुज़ियान प्रांत ( Fujian province) और गुआंगशी ( Guangxi) सहित अन्य इलाके भी इस महीने रिकॉर्ड बारिश से प्रभावित हुए हैं, इस वजह से सैकड़ों- हजारों लोगों को पलायन करना पड़ा है। हालांकि चीन के कुछ इलाकों में गर्मियों में बाढ़ आना आम बात है, लेकिन हाल के वर्षों में जलवायु परिवर्तन के कारण ये और भी विकराल रूप ले चुके हैं। उधर दूसरी तरफ चीनी अधिकारियों ने अब तक इस साल की भीषण बाढ़ को सीधे तौर पर जलवायु परिवर्तन से जोड़कर नहीं देखा है। कुछ लोकल मीडिया ने इसे “सदी में एक बार की बाढ़” करार दिया है। इनकी रिपोर्ट में कहा गया है कि इस बार का जल स्तर 1931 में दर्ज किए गए अधिकतम जल स्तर को पार कर गया है और इलाके के अभी के हालातों को भी 1915 में आई सबसे खतरनाक बाढ़ की तरह ही देखा जा रहा है।