Weather Forecast

Weather Update: 15 जून से देश के इन इलाकों में होगी बारिश, जानें दिल्ली- एनसीआर में कैसा रहेंगा मौसम

मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने बुधवार को कहा कि देश में मानसूनी वर्षा के 15 जून से जोर पकड़ने की संभावना है। इस दौर में देश के मध्यवर्ती और उत्तरी मैदानी इलाकों में भी वर्षा होने की संभावना है। भारत में वार्षिक वर्षा की करीब 70 प्रतिशत मानसून (Monsoon) के मौसम में होती है और इसे देश की कृषि आधारित आर्थिकी के लिए बेहद अहम माना जाता है। इस साल मानसून (Monsoon) अपने सामान्य समय से दो दिन पहले 29 मई को केरल पहुंचा था। हालांकि एक जून से वर्षा औसत से 42 % कम रही है।


मौसम विभाग पूरे मानसून (Monsoon) मौसम के लिए 50 वर्ष के औसत 87 सेंटीमीटर के 96 से 104 प्रतिशत वर्षा को सामान्य वर्षा मानता है। महापात्र ने कहा, फिर भी दक्षिणी, पूर्वी और पूर्वोत्तर राज्यों में सामान्य और सामान्य से अधिक वर्षा हुई है। उन्होंने कहा, ‘आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, असम, दक्षिण बंगाल, मेघालय, सिक्किम और कर्नाटक के कुछ हिस्सों में सामान्य से अधिक बारिश हुई है।’ इस दौर में मानसून की प्रगति खासकर मध्य और उत्तर-पश्चिम भारत में, कई फसलों की रोपाई के लिए बेहद अहम है। इस साल धान की फसल के निर्धारण में मानसून अहम भूमिका निभाएगा और अच्छी वर्षा से भारत को चावल के वैश्विक कारोबार में अपने प्रतिष्ठा बरकरार रखने में मदद मिलेगी।
उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत में गर्मी का प्रकोप जारी

उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत के कई हिस्सों में बुधवार को भी गर्मी का प्रकोप जारी रहा। राजस्थान (Rajasthan) के गंगानगर और महाराष्ट्र के ब्रह्मपुरी में सर्वाधिक अधिकतम तापमान 46.2 डिग्री दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने बताया कि उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, झारखंड, तेलंगाना, मध्य प्रदेश में गुरुवार तक और ओडिशा में शुक्रवार तक लू चलने का दौर जारी रहेगा। इन राज्यों के करीब 42 कस्बों और शहरों में बुधवार को अधिकतम तापमान 44 डिग्री से अधिक दर्ज किया गया। दिल्ली के सफदरजंग में अधिकतम तापमान 44 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से 4 डिग्री अधिक रहा। अगले 5 दिनों में गुजरात और महाराष्ट्र में पारा दो से तीन डिग्री गिर सकता है।
दिल्ली में लू से कोई राहत नहीं, दो दिनों में राहत की संभावना

दिल्ली के कई हिस्सों में बुधवार को लगातार छठे दिन भी भीषण लू का प्रकोप दर्ज किया गया, हालांकि भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि दो दिनों में कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। दिल्ली के आधार केंद्र सफदरजंग वेधशाला ने अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से चार डिग्री अधिक है। दिल्ली के 11 मौसम केंद्रों में से 4 ने मंगलवार को लू का प्रकोप दर्ज किया। स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में अधिकतम तापमान 46.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जिससे यह शहर का सबसे गर्म स्थान बन गया। नजफगढ़, मुंगेशपुर, पीतमपुरा और रिज स्टेशन में अधिकतम तापमान क्रमश: 46.3 डिग्री सेल्सियस, 46.2 डिग्री सेल्सियस, 45.7 डिग्री सेल्सियस और 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।