KK last Live peformance

KK Death News: पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा-इसकी वजह से हुई थी केके की मौत

KK Death News: मशहूर गायक केके की मौत (KK Death) उनके दिल के ठीक तरीके से काम नहीं करने की वजह से हुई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट (post mortem report) में इसका खुलासा हुआ है। ऐसी स्थिति को चिकित्सकीय भाषा में ‘मायोकार्डियल इनफार्कसन’ कहा जाता है। कोलकाता पुलिस को मिली पोस्टमार्टम रिपोर्ट (post mortem report) के मुताबिक मौत से कुछ समय पहले केके का दिल रक्त को पर्याप्त मात्रा में पंप नहीं कर पा रहा था, जिसके कारण शरीर को पर्याप्त आक्सीजन नहीं मिल रहा था।


पर्याप्त रक्त पंप नहीं कर पाने की वजह केके को पहले से दिल संबंधी समस्याएं थीं। उनकी धमनियों में पीली-सफेद पट्टिका या वसा जम गई थी। कोलेस्ट्राल जमने के कारण पोस्टेरियर इंटरवेंट्रिकुलर धमनी का खतरनाक रूप से संकुचन हुआ था। बाईं कोरोनरी धमनी के कई हिस्सों में एथेरोस्क्लेरोसिस या वसा संचय अवरोध भी पाया गया है। विशेषज्ञों के अनुसार प्लाक विच्छेदन के बाद खून नहीं निकलने का मतलब है कि उनके अवरुद्ध होने से खून अटक गया है। केके के शव का एसएसकेएम अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया था। न्यू मार्केट थाने की पुलिस ने अस्वाभाविक मौत का मामला दर्ज किया था, हालांकि पोस्ट मार्टम रिपोर्ट ने इसे खारिज कर दिया है। पता चला है कि केके को लंबे समय से गैस की समस्या थी। वे अक्सर इसकी गोलियां लेते थे। 30 मई को उन्होंने अपनी पत्नी से फोन पर बात की थी और उन्हें अपने कंधे और हाथ में दर्द होने की बात कही थी।
कोलकाता पुलिस ने की शर्त्‍तें लागू

दूसरी तरफ कोलकाता पुलिस ने नजरुल मंच में केके के जीवन के आखिरी कंसर्ट के दौरान दिखी अव्यवस्था के मद्देनजर कालेज के रंगारंग कार्यक्रमों के आयोजन पर अतिरिक्त शर्तें लागू करने का फैसला किया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पहली और प्राथमिक शर्त ऐसे कार्यक्रमों के आयोजन के दौरान आडिटोरियम परिसर में कम से कम एक एबुंलेंस और दक्ष डाक्टर की व्यवस्था करने की होगी ताकि अचानक बीमार पड़े व्यक्ति को तुरंत पास के अस्पताल ले जाया जा सके। दूसरी शर्त यह है कि आडिटोरियम के अंदर व बाहर पंजीकृत सुरक्षा एजेंसी के सुरक्षाकर्मियों की तैनाती करनी होगी। अक्सर देखा जाता है कि छात्र संघ भीड़ को संभालने का जिम्मा कालेज के ही छात्रों को वोलेंटियर बनाकर सौंपता है। उन लोगों को भीड़ संभालने का कोई प्रशिक्षण मिला नहीं होता है। तीसरी शर्त यह होगी कि कार्यक्रम का आयोजन करने वाले छात्र संघ को पुलिस को यह सूचित करना होगा कि वे किस कलाकार को ला रहे हैं और उनके साथ कितने लोग होंगे। चौथी व आखिरी शर्त यह है कि कार्यक्रम के आयोजकों को लिखित तौर पर यह बताना होगा कि कार्यक्रम के लिए फ्री पास होंगे या उसके लिए भुगतान करना होगा। आयोजकों को बांटे जाने वाले पास की संख्या भी बतानी होगी।