Maharashtra Politics

मेरी खामोशी को कमजोरी न समझे- उद्धव ठाकरे

देश महाराष्ट्र

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनोट से विवादों के बीच महाराष्ट्र के सीएम Uddhav Thackeray राज्य के लोगों को संबोधित किया। हालांकि न तो उन्होंने कंगना-शिवसेना के बीच चल रहे विवाद पर कुछ बोला और न ही शिवसैनिकों द्वारा नेवी के पूर्व अफसर की पिटाई पर बात की। अपने संबोधन के शुरुआत में ही उन्होंने साफ कर दिया कि वो आज राजनीतिक मसलों पर बात नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। पिछले दिनों मैंने कई मुसीबतों का सामना किया है और आगे भी राजनीतिक साइक्लोन का सामना करता रहूंगा, लेकिन मेरी खामोशी को मेरी मजबूरी न समझे।

मराठा आरक्षण पर सभी का साथ

मराठा आरक्षण के मामले पर Uddhav Thackeray ने कहा कि पूरी विधानसभा ने एकसाथ मिलकर मराठा समाज के लिए आरक्षण की घोषणा की है। पहले हाई कोर्ट में मामला गया, फिर सुप्रीम कोर्ट में गया। मराठा आरक्षण को स्टे देने की जरूरत नहीं थी, लेकिन स्टे दिया गया है। मैं सभी नेताओं के साथ इस मुद्दे पर संपर्क में हूं।


महाराष्ट्र की स्थिति पूरी तरह खराब नहीं
CM ने कहा कि अब पूरी दुनिया में लग रहा है कि Corona की दूसरी लहर आई है। गांवों तक Corona पहुंच रहा है। कोरोना को लेकर आपको डरने की जरूरत नहीं है, आप खबरदार रहें, हम जिम्मेदारी निभा रहे हैं। कुछ जिम्मेदारी आप उठाएंगे, कुछ हम उठाएंगे। महाराष्ट्र की स्थिति पूरी तरह खराब नहीं है।

‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ मुहिम
Uddhav Thackeray ने कहा कि 15 सितंबर से हम एक मुहिम शुरू कर रहे हैं। जो भी अपने महाराष्ट्र से प्यार करता है, वो इसे अपनी जिम्मेदारी समझेगा। महाराष्ट्र हमारा परिवार है, इसे सुरक्षित रखना हमारी जिम्मेदारी है। इसलिए मैंने इस मुहिम का नाम ‘मेरा परिवार, मेरी जिम्मेदारी’ रखा है। मास्क ही हमारा ब्लैक बेल्ट है, यही हमारी रक्षा करेगी।

पूरी तरह से खबरदार रहें

सीएम ने कहा कि भीड़ वाली जगह पर मास्क जरूर लगाएं, अगर जरूरत ना हो तो बाहर ना निकलें। अगर बाहर निकलना पड़ता है तो पूरी तरह से खबरदार रहें। हमारी कोशिश यह रहेगी की आने वाले दिनों में हर घर में जाकर स्वास्थ्य की जानकारी ली जाएगी। इसके लिए मुझे सभी विधायकों और सांसदों की जरूरत होगी।

घर-घर जाकर स्वास्थ्य की जानकारी

Uddhav Thackeray ने कहा कि आने वाले दिनों में घर-घर जाकर 55 साल से ऊपर के लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी ली जाएगी। अभी के वक्त में पर्सनल हाइजीन को फॉलो करना बहुत जरूरी हो गया है। तभी आप अपने परिवार की Corona से सुरक्षा कर पाएंगे। मुझपर आरोप लगाया गया कि मुख्यमंत्री घर से बाहर नहीं निकल रहे हैं। लेकिन में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हर जगह पहुंचने की कोशिश कर रहा हूं।

कंगना से महाराष्ट्र सरकार का विवाद

अभिनेत्री कंगना रनोट और शिवसेना की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार के बीच तनाव चल रहा है। इश बीच कंगना महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने वाली हैं। मुंबई की तुलना पाक अधिकृत कश्मीर से करने का बाद कंगना शिवसेना के निशाने पर आ गई। इसके बाद शिवसेना नेता संजय राउत और कंगना के बीच तीखी टिप्पणियां होने के बाद BMC ने उनके ऑफिस में तोड़फोड़ की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *