Kangana Ranaut

गवर्नर से मिलने के बाद बोलीं कंगना,अन्याय के बारे में हुई बात,उम्मीद है न्याय मिलेगा

देश महाराष्ट्र

अपने कार्यालय में तोड़फोड़ के बाद शिवसेना पर बरसने वाली कंगना रनोट आज राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की है। राज्यपाल से मिलने के बाद Kangana Ranaut ने कहा कि मैं कोई पॉलिटिशियन तो हूं नहीं। मैंने एक आम नागरिक के तौर पर राज्यपाल से मुलाकात की है। मैंने राज्यपाल से अपने साथ हुए अन्याय के बारे में बात की। मुझे उम्मीद है कि न्याय मिलेगा। इसके साथ ही कंगना ने कहा कि राजनीति से मेरा कोई लेना देना नहीं है। राज्यपाल ने बेटी की तरह मेरी बात सुनी और मुझे सहानुभूति दी। मुझे उम्मीद है कि मुझे न्याय मिलेगा।

Sushant Singh Rajput मामले की जांच में मुंबई की तुलना गुलाम कश्मीर से करने के बाद से ही कंगना और शिवसेना के बीच टकराव जारी है।

केंद्रीय मंत्री और आरपीआइ अध्यक्ष रामदास आठवले ने शुक्रवार को राज्यपाल Bhagat Singh Koshyari से मुलाकात करके कंगना को मुआवजा दिए जाने की मांग की थी। रामदास आठवले ने कंगना रनौत के दफ्तर पर BMC की कार्रवाई को गलत ठहराया था। साथ ही उन्होंने कंगना के आवास पर जाकर उनसे मुलाकात भी की थी।


इस मामले में राज्यपाल Bhagat Singh Koshyari पहले ही इस मामले को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। उन्होंने इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के प्रमुख एडवाइजर अजॉय मेहता को तलब भी किया था। मिल रही जानकारी के अनुसार राज्यपाल इस पूरे विवाद पर एक रिपोर्ट तैयार कर उसे केंद्र को भेजने वाले हैं।

कंगना के निशाने पर सोनिया गांधी

कंगना शिवसेना के खिलाफ लगातार मोर्चा खोले हुए हैं। इससे पहले अपने कार्यालय में हुई तोड़फोड़ से आक्रोशित कंगना ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को निशाने पर लिया था। कंगना ने ट्विटर पर लिखा, आदरणीय कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जी, क्या एक महिला होने के नाते महाराष्ट्र में आपकी सरकार द्वारा मेरे साथ हो रहे बर्ताव पर आपको तकलीफ नहीं हुई? आप पश्चिम में पली-बढ़ी हैं। आप भारत में रहती हैं। आप महिलाओं के संघर्ष से अवगत होंगी। आपकी चुप्पी और उपेक्षा को इतिहास जज करेगा। आपकी खुद की सरकार महिलाओं का उत्पीड़न कर रही है और कानून-व्यवस्था का मजाक बना रही है। मुझे उम्मीद है कि आप हस्तक्षेप करेंगी।
दाऊद का घर तोड़ने नहीं जाते- फड़नवीस

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फ़़डनवीस ने कंगना मामले को तूल देने के लिए शिवसेना को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा, महाराष्ट्र सरकार को ऐसा लगता है कि उनकी ल़़डाई Corona से नहीं, बल्कि कंगना से है। आपने उसका कार्यालय तोड़ा। अब किस शिवसेना नेता का घर अवैध है, यह बात बाहर आ रही है। आप अंडरव‌र्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का घर तोड़ने नहीं जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *