COVID 19

अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर 30 जून तक लगाई गई रोक

कारोबार देश

कोरोना संकट के चलते अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर लगाई गई रोक को 30 जून तक के लिए बढ़ा दिया गया है। विमानन नियामक डीजीसीए ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। नागरिक उड्डयन महानिदेशालय यानी DGCA ने अपने आधिकारिक बयान में कहा कि सक्षम प्राधिकरण हर मामले पर गौर करते हुए चयनित मार्गों पर अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को अनुमति दे सकते हैं।

मालूम हो कि देश में Corona महामारी के चलते 23 मार्च 2020 से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को निलंबित कर दिया गया था। हालांकि बाद में मई 2020 से वंदे भारत अभियान और जुलाई 2020 से चयनित देशों के बीच द्विपक्षीय एयर बबल व्यवस्था के तहत विशेष अंतरराष्ट्रीय उड़ानें संचालित होती रही हैं। केंद्र सरकार ने अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात, केन्या, भूटान और फ्रांस समेत 27 देशों के साथ एयर बबल समझौते किए हैं।


बता दें कि एयर बबल समझौते के तहत दो देशों के बीच विशेष अंतरराष्ट्रीय विमान अपने क्षेत्रों के बीच उड़ान भर सकते हैं। हालांकि DGCA के शुक्रवार को जारी अपने आधिकारिक बयान में यह भी कहा है कि निलंबन का असर अंतरराष्ट्रीय मालवाहक अभियानों और उसके द्वारा मंजूरी प्राप्त उड़ानों पर नहीं पड़ेगा। गौर करने वाली बात है कि अंतरराष्ट्रीय यात्री विमानों पर निलंबन को लेकर यह फैसला कोरोना की दूसरी लहर के बीच आया है।

हाल ही में DGCA की ओर से यात्रियों के लिए जारी एक सर्कुलर में कहा गया था कि यात्रियों को एयरपोर्ट में दाखिल होने के बाद से लेकर निकलने तक मास्क पहनना अनिवार्य होगा। इसमें यह भी कहा गया है कि हवाई यात्रा के दौरान यात्रियों को शारीरिक दूरी और कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना होगा। नियमों को तोड़ने पर आपको प्‍लेन से उतार दिया जाएगा। यही नहीं बार-बार नियमों का उल्लंघन करने वालों को ‘उपद्रवी यात्री’ करार दे दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *