America Donald Trump

अमेरिकी राजनीति में तूफान, डोनाल्‍ड ट्रंप के रिजल्‍ट बदलने के लिए दबाव डालने का ऑडियो वायरल

NEWS विदेश

अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने चुनाव में वोटों की गिनती के दौरान हार की ओर बढ़ता देखकर जॉर्जिया के शीर्ष चुनाव अधिकारी को फोन करके चुनाव परिणाम ‘बदलने’ के फोन करके दबाव डाला था। ट्रंप ने चुनाव अधिकारी से कहा कि वह इस दक्षिणी राज्‍य में उनकी हार को जीत में बदलने के लिए पर्याप्‍त वोटों की ‘तलाश’ करें। अमेरिकी मीडिया में इस फोन कॉल का ऑडियो वायरल होने के बाद सियासी तूफान आ गया है और इसकी तुलना वॉटरगेट कांड से हो रही है।

दरअसल, अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप चुनाव में हार के बाद से लगातार यह दावा कर रहे हैं कि जो बाइडन के हाथों उनकी हार बड़े पैमाने पर वोटों की गड़बड़ी की वजह से हुई है। ट्रंप के इस दावे को राज्‍यों और संघीय चुनाव अधिकारी तथा कई अदालतों ने खारिज कर दिया है। ट्रंप ने जॉर्जिया के सेक्रटरी ऑफ स्‍टेट और रिपब्लिकन नेता ब्राड रफेनस्‍पेर्गर को यह फोन कॉल ऐसे समय पर किया था जब अमेरिकी कांग्रेस में उनके कुछ सहयोग‍ियों ने बाइडन के जीत का औपचारिक प्रमाण पत्र देने का विरोध करने का फैसला किया था।

अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव में जो बाइडन को 306 और ट्रंप को 232 वोट मिले थे। यही नहीं बाइडन को ट्रंप के मुकाबले 70 लाख ज्‍यादा पॉप्‍युलर वोट मिले थे। अमेरिकी मीडिया में आए ऑडियो में ट्रंप बार-बार ब्राड रफेनस्‍पेर्गर पर इस बात के लिए दबाव डाल रहे हैं कि वह बाइडन की बजाय उन्‍हें व‍िजेता घोषित करें। ट्रंप ने कहा, ‘मैं बस यही चाहता हूं कि आप इसे करो। मैं केवल 11,780 वोटों की तलाश करना चाहता हूं, यह जो हमारे पास है, उससे ज्‍यादा है।’

READ MORE:   अमेरिका में डेढ़ लाख सिक्‍यॉरिटी कैमरे हुए हैक, टेस्‍ला, जेल, अस्‍पतालों का डेटा भी उड़ाया

ट्रंप ने कहा, ‘आप जानते हो कि यह कहने में कोई गलत नहीं है कि आपने वोटों की फिर से गणना की है।’ जॉर्जिया में तीन बार बैलट की गिनती की गई थी जिसके परिणाम स्‍वरूप बाइडेन के जीत के दो बार परिणाम आए। अंतिम परिणाम में जो बाइडन 11,779 से ज्‍यादा वोटों से जीत गए थे। जार्जिया में कुल करीब 50 लाख वोट पड़े थे। रिपब्लिकन नेता ब्राड रफेनस्‍पेर्गर ने ट्रंप के दावे को खारिज कर दिया था और उन्‍हें कहा था कि आप सोशल मीडिया पर वायरल फर्जी बातों पर भरोसा कर रहे हैं।

उधर, इस टेप के सामने आने के बाद अमेरिकी राजनीति में एक बार फिर से पारा गरम हो गया है। ट्रंप और ब्राड रफेनस्‍पेर्गर के ऑफिस ने इस टेप पर कोई भी टिप्‍पणी करने से इनकार कर दिया है। इस बीच बाइडन कैंप ने ट्रंप के फोन कॉल को अमेरिकी लोक‍तंत्र पर प्रहार बताया है। डोनाल्‍ड ट्रंप के इस फोन कॉल को आपराधिक कार्रवाई बताया जा रहा है। अमेरिका के वॉटर कांड का खुलासा करने वालों में शामिल पत्रकार कार्ल बेरन्‍स्‍टेन ने इसे अमेरिकी राजनीति में तूफान लाने वाले वॉटरगेट कांड से भी खराब बताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *