damaging smartphone

सैनिटाइजर के इस्तेमाल से खराब हो रहे स्मार्टफोन, जानें- कैसे करें रख-रखाव

टेक्नोलॉजी देश

दुनियाभर में सैनिटाइजर का इस्तेमाल कई सालों से हो रहा है, लेकिन Coronavirus महामारी ने इसे हर किसी की जुबान और हाथों तक पहुंचा दिया है। हर कोई Sanitisers का इस्तेमाल कर खुद को Coronavirus के संक्रमण से मुक्त करने की कोशिश कर रहा है। लोग न सिर्फ अपने हाथों को बल्कि सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली डिवाइस यानी अपने मोबाइल फोन को भी इससे साफ कर रहे हैं, लेकिन इसके अब गंभीर परिणाम दिख रहे हैं।

खुद को वायरस से बचाने के लिए लोग मास्क पहनने के साथ ही Sanitisers अपने हाथों पर लगा रहे हैं। वहीं अक्सर हमारे हाथों में रहने वाला मोबाइल फोन भी इस वायरस का कारण बन सकता है और इसलिए कई लोग इस पर भी Sanitisers लगा रहे हैं, लेकिन इसके कारण मोबाइल फोन में खराबी की शिकायतें सामने आई हैं।

रिपोर्ट्स के अनुसार, कई लोगों ने अपने फोन में खराबी की शिकायत की, जिनका कारण डिवाइस को साफ करने के लिए हैंड Sanitisers का इस्तेमाल माना जा रहा है। मोबाइल रिपेयरिंग की दुकानों में ऐसे मामले आए हैं, जिनमें फोन की स्क्रीन से लेकर इसके ईयरफोन जैक और कैमरा लेंस तक खराब हुए हैं।

Sanitisers में एल्कोहॉल होता है, जिसके कारण ये वायरस को खत्म करने में मदद करता है, लेकिन मोबाइल फोन पर Sanitisers लगाने के कारण ये स्पीकर और माइक्रोफोन वाली जगहों से हैंडसेट के अंदर पहुंच जाता है और उसमें मौजूद सर्किट और चिप को नुकसान पहुंचाता है।

हालांकि फोन को साफ करना भी जरूरी है, क्योंकि ये लगातार हमारे हाथों में रहता है और कई बार ये खतरनाक वायरस और बैक्टीरिया का वाहक बन जाता है। ऐसे में बेहद समझदारी और सतर्कता से इसकी सफाई जरूरी है।

इसके लिए एक छोटा सा कपड़ा लेकर उसपर एक बूंद Sanitisers डालना चाहिए और फिर एक सीध में फोन की स्क्रीन और उसके बैक पैनल को साफ करना चाहिए। कभी भी इसे माइक्रोफोन, स्पीकर या चार्जिंग/इयरफोन जैक के पास न ले जाएं।

इसके अलावा मेडिकल स्टोर से जाकर मेडिकल वाइप्स लिए जा सकते हैं, जिनमें Sanitisers जैसे लक्षण होते हैं। ये आम तौर पर हाथ साफ करने में इस्तेमाल होते हैं, लेकिन पूरी सतर्कता के साथ फोन की सफाई में भी इनका इस्तेमाल हो सकता है। ये एक आसान जरिया भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *