Coronavirus Symptoms

बुखार व जुकाम-खांसी न होने पर भी हो सकता है कोविड संक्रमण-ब्रिटिश वैज्ञानिक

विदेश हेल्थ

कोविड के संक्रमण में गंध और स्वाद लेने की क्षमता का कम होना सबसे विश्वसनीय लक्षण माने गए हैं। संक्रमित व्यक्ति की दोनों क्षमताएं धीरे-धीरे करके खत्म हो जाती हैं। ये दोनों लक्षण पूरी दुनिया में संक्रमितों में पाए गए हैं। यह जानकारी ब्रिटेन में वैज्ञानिकों के शोध से निकलकर आई है।

लंदन के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के आंकड़ों का अध्ययन करने पर पता चला कि Covid-19 ग्रस्त 78 प्रतिशत मरीजों की सूंघने और स्वाद लेने की क्षमता पूरी तरह या काफी हद तक खत्म हो गई थी। इनमें से 40 प्रतिशत को बुखार नहीं था और खांसी-जुकाम वाले लक्षण भी नहीं थे। ये आंकड़े 23 अप्रैल से 14 मई के मध्य के हैं, जब लंदन में Coronavirus का संक्रमण बहुत तेजी से हो रहा था। लक्षणों को लेकर पहली बार किसी देश में ऐसा अध्ययन हुआ है। इससे Covid के इलाज में मदद मिलने की संभावना है।

Corona की दूसरी लहर से जूझ रहा है ब्रिटेन
यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर रचेल बैटरहम के अनुसार अब जबकि ब्रिटेन Coronavirus संक्रमण की दूसरी लहर से जूझ रहा है, तब हमें इस निष्कर्ष से इलाज में काफी मदद मिलने की संभावना है। इन दो लक्षणों का पता चलते ही लोग खुद ही एकांतवास में जाने लगेंगे और अपना Corona परीक्षण कराने लगेंगे। इससे संक्रमण फैलने से रोकने में मदद मिलेगी। लोग बुखार आने, खांसी-जुकाम होने और उसके बिगड़ने का इंतजार नहीं करेंगे। गंध और स्वाद संबंधी लक्षणों को प्रमुखता देने से दुनिया भर में Corona का संक्रमण नियंत्रित किया जा सकेगा। इस बात को दुनिया भर में प्रचारित करने की जरूरत है।

READ MORE:   देश में प्लाज़्मा ट्रीटमेंट का ट्रायल होगा शुरू,


डॉ. बैटरहम के अनुसार अभी तक दुनिया के कुछ ही देशों ने इन लक्षणों को प्रमुखता दी है। ज्यादातर देशों में बुखार और सांस लेने में कठिनाई को Corona का लक्षण माना जा रहा है। लेकिन अब मान्यता को बदले जाने की जरूरत है। इस शुरुआती लक्षण से Corona संक्रमण को फैलने से रोका जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *