Covid-19 patients in UK

वैज्ञानिकों का बड़ा खुलासा- किडनी रोगियों के लिए ज्यादा घातक है कोरोना

विदेश हेल्थ

कोरोना वायरस उन लोगों पर ज्यादा भारी पड़ रहा है, जो पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं। अब एक नए अध्ययन से पता चला है कि kidney की समस्या से पीडि़त लोगों के लिए Corona संक्रमण ज्यादा घातक साबित हो सकता है। एक भारतीय समेत शोधकर्ताओं के दल ने पाया कि ICU में भर्ती ऐसे Corona मरीजों में मौत का खतरा सबसे ज्यादा हो सकता है, जो क्रॉनिक किडनी डिजीज (सीकेडी) या एक्यूट किडनी इंजरी (एकेआइ) से पीडि़त हैं।

सीकेडी kidney रोग का एक प्रकार है। बुजुर्गों में आमतौर पर होने वाली इस बीमारी के चलते किडनी धीरे-धीरे काम करना बंद कर देती है। जबकि एकेआइ में अचानक kidney फेल हो सकती है। Coorna के कारण भी यह खतरा हो सकता है। ब्रिटेन के इंपीरियल कॉलेज लंदन के शोधकर्ता सनोज सोनी ने कहा, ‘हमारी जानकारी के आधार पर यह ऐसा पहला व्यापक अध्ययन है, जिसमें गंभीर रूप से पीडि़त उन Corona रोगियों का विश्लेषण किया गया है, जो पहले से ही किडनी समस्या से जूझ रहे थे।’


शोधकर्ताओं ने ICU में भर्ती किए गए 372 सीकेडी और एकेआइ रोगियों पर गौर किया। इन रोगियों की औसत उम्र 60 साल थी। इन पीडि़तों में से 218 किडनी रोगी थे। इनमें से 45 फीसद रोगी ICU में रखे जाने के दौरान AKI की चपेट में आ गए। इससे जाहिर होता है कि AKI का Corona से सीधा संबंध है। AKI की चपेट में आने वाले Corona पीडि़तों में मौत की दर 48 फीसद पाई गई।

READ MORE:   चुनावी प्रचार में मीडिया की दखलंदाजी को अलग रखा जाना चाहिए-ट्रंप

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *