राजस्थान में धूल भरी आंधी से घिरी कांग्रेस, 30 विधायकों के पार्टी छोड़ने के कयास

NEWS राजस्थान

कांग्रेस के दो शीर्ष नेताओं के बीच का झगड़ा तख्तापलट के लिए मजबूत आधार बनता दिख रहा है। सूत्रों ने बताया कि बीजेपी इस खेल को अपने पक्ष में भुनाने की कोशिश में है। बीजेपी (BJP) के सूत्रों ने कहा है कि वे इंतजार करना चाहते हैं और देखते हैं कि राजस्थान के CM अशोक गहलोत द्वारा कल सुबह बुलाई गई कांग्रेस विधायकों की बैठक में क्या होता है। एक सूत्र ने कहा कि “BJP का अगला बड़ा कदम उस बैठक में अनुपस्थित लोगों के आधार पर होगा।”

राजस्थान के उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता सचिन पायलट भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हो सकते हैं। सचिन पायलट अगर BJP में शामिल होते हैं तो राजस्थान की गहलोत सरकार के लिए बड़ा झटका होगा। सूत्रों के मुताबिक, पायलट खेमे के 27 विधायक भी BJP में शामिल हो सकते हैं। इसके अलावा तीन निर्दलीय विधायक भी BJP से जुड़ सकते हैं। सचिन पायलट ने दावा भी किया है कि 30 विधायक उनके साथ हैं।

सचिन पायलट के खेमे के विधायक अपना इस्तीफा आज देर रात विधानसभा अध्यक्ष को भेज सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, कल सुबह होने वाली कांग्रेस विधायक दल की बैठक से पहले आज देर रात सचिन पायलट के खेमे के विधायक अपना इस्तीफा विधानसभा अध्यक्ष को भेज सकते हैं।

इससे पहले सचिन पायलट ने कहा कि वो कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नहीं शामिल होंगे। सोमवार सुबह 10.30 बजे विधायक दल की बैठक होनी है। सचिन पायलट दिल्ली में ही हैं। वो जयपुर नहीं जा रहे हैं। पायलट पार्टी आलाकमान से मुलाकात करने दिल्ली में हैं। लेकिन आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से उनकी मुलाकात नहीं हुई है।

सचिन पायलट ने BJP के नेता और अपने मित्र ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की। दोनों नेताओं की ये मुलाकात ज्योतिरादित्य सिंधिया के आवास पर हुई। ये मुलाकात 40 मिनट तक चली। इस मुलाकात के बाद कयास लगाए जाने लगे कि सचिन पायलट भी BJP में शामिल हो सकते हैं। हालांकि अभी तक आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है।

मुलाकात के पहले सिंधिया ने सचिन पायलट के पक्ष में ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि सचिन पायलट को दरकिनार किए जाने से मैं दुखी हूं। ये दिखाता है कि कांग्रेस में काबिलियत और क्षमता की कोई अहमियत नहीं है।

एक ओर जहां पायलट दिल्ली में हैं तो वहीं CM अशोक गहलोत ने जयपुर में पार्टी विधायकों के साथ बैठक की। गहलोत खेमे ने भी 100 से अधिक विधायकों के समर्थन का दावा किया है। वहीं, बीजेपी की ओर से कहा जा रहा है कि वो सचिन पायलट के संपर्क में नहीं है। ये कांग्रेस का आंतरिक मामला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *