चीन सैन्य अभ्यास नहीं हमले की तैयारी कर रहा, ताइवान ने सेनाओं को हाई अलर्ट पर किया और गश्त बढ़ाई

ताइवान ने कहा है कि उसकी समुद्री सीमा के नजदीक सैन्य अभ्यास कर रहे चीन के युद्धपोत और लड़ाकू विमान वास्तव में हमले की तैयारी कर रहे हैं। अमेरिकी संसद के प्रतिनिधि सभा सदन की स्पीकर नैन्सी पेलोसी की ताइवान यात्रा से बौखलाया चीन ताइवान की समुद्री सीमा पर सैन्य अभ्यास कर रहा है। इस दौरान उसके युद्धपोत और लड़ाकू विमान बार-बार ताइवान के क्षेत्र में जा रहे हैं जिससे वहां पर तनाव बढ़ रहा है।

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी तीन अगस्त से ताइवान को घेरकर छह स्थानों पर सैन्य अभ्यास कर रही है।एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक इस सैन्य अभ्यास में चीनी सेना ने बैलेस्टिक मिसाइल भी दागी हैं जो ताइवान की राजधानी ताइपे के ऊपर से होती हुई जापान के क्षेत्र में गिरी हैं। जापान ने इसकी निंदा की है जबकि अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन ने इसे चीन का गैरजिम्मेदाराना कदम बताया है।

उन्होंने अमेरिका के साथ संवाद बंद करने के चीन के फैसले को भी गैर जिम्मेदारी वाला बताया है। कहा कि इससे समस्याओं को शांतिपूर्ण ढंग से निपटाने में बाधा आएगी। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि चीन के कई युद्धपोतों और लड़ाकू विमानों ने शनिवार को भी ताइवान स्ट्रेट में कई बार मीडियन लाइन को पार किया। मीडियन लाइन समुद्र के मध्य ताइवान द्वारा निर्धारित सीमा रेखा है लेकिन चीन उसे नहीं मानता।

100 से ज्यादा लड़ाकू विमान और दस युद्धपोत ले रहे हिस्सा

ताइवानी सेना के अनुसार चीन हमले का अभ्यास कर रहा है और मौका देखकर कर भी सकता है। ताइवान की सेनाएं भी हाई अलर्ट पर हैं। उन्होंने हमले से बचाव के सारे प्रबंध कर रखे हैं। नागरिकों को भी सतर्क कर दिया है। जबकि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की पूर्वी थिएटर कमांड ने कहा है कि ताइवान के उत्तर, दक्षिण-पश्चिम और पूर्व में समुद्र और आकाश में संयुक्त सैन्य अभ्यास जारी है। अभ्यास में जमीन और समुद्र में हमले की क्षमता को परखा जा रहा है।