विधान परिषद चुनाव : किसे बनाएं उम्मीदवार और किसका काटें नाम, BJP में मंथन जारी

देश

BJP ने विधान परिषद की 12 सीटों पर होने वाले चुनावों के मद्देनज़र पार्टी उम्मीदवारों के नामों पर सोमवार को चर्चा की। प्रदेश चुनाव समिति की बैठक में इन नामों पर चर्चा के साथ पैनल केंद्रीय संसदीय बोर्ड को भेजने के लिए प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह को अधिकृत कर दिया गया। साथ ही पंचायत चुनाव के लिए प्रवास कार्यक्रमों को अंतिम रूप दिया गया। विधान परिषद के 12 सदस्यों का कार्यकाल 31 जनवरी को खत्म हो रहा है। इसमें सपा के छह, BJP के डिप्टी CM डा. दिनेश चंद्र शर्मा व BJP प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह समेत 3 और BSP के 2 सदस्य हैं। नसीमुद्दीन सिद्दीकी की BSP से कांग्रेस में जाने के कारण सदस्यता समाप्त कर दी गई थी। BJP के मौजूदा विधायकों की संख्या के मद्देनज़र 10 सीटें मिलना तय है। वहीं SP के खाते में एक सीट जाना तय है। अगर BSP का प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष समर्थन मिला तो BJP के खाते में 11वीं सीट भी जा सकती है। राज्यसभा चुनावों में BSP के उम्मीदवार रामजी गौतम BJP के समर्थन से राज्यसभा पहुंचने में कामयाब हुए थे। चुनाव आयोग जल्द ही विधान परिषद चुनावों की अधिसूचना जारी कर सकता है।

नतीजतन, BJP ने प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को केंद्रीय नेतृत्व को भेजे जाने वाले नामों पर चर्चा की। बैठक में CM योगी आदित्यनाथ, दोनों डिप्टी CM केशव प्रसाद मौर्य और डा. दिनेश शर्मा, UP प्रभारी राधा मोहन सिंह के अलावा दिल्ली से आई राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह भी मौजूद रहे। बैठक में दो दर्जन से ज्यादा नामों पर मंथन हुआ। इसमें मुख्य रूप से पार्टी के पुराने कार्यकर्ताओं के नामों के साथ ही मौजूदा समय में क्षेत्र में अच्छा काम कर रहे लोगों के नामों पर विचार हुआ। तय हुआ है कि जल्द ही नाम केंद्रीय नेतृत्व को भेज दिए जाएंगे। इसके लिए प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव को जिम्मेदारी दी गई है।

READ MORE:   रक्तदान से क्या है फायदे

बैठक में पंचायत चुनावों पर भी चर्चा हुई। राय बनी की पार्टी पूरे दमखम से पंचायत चुनाव लड़ेगी। साथ ही चुनाव में संगठन के पुराने और कर्मठ लोगों को आगे बढ़ाया जाएगा। इसके साथ ही पंचायत चुनाव की व्यूह रचना तैयार की गई। 7 से 17 जनवरी तक प्रवास के कार्यक्रम तय किए गए। प्रवास कार्यक्रमों के माध्यम से पार्टी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की रणनीति कार्यकर्ताओं तक पहुंचाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *