शमशान का BJP से पुराना नाता- अखिलेश का CM योगी पर तंज

VIEWS उत्तर प्रदेश देश राजनीति

उत्तर प्रदेश के पूर्व CM और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को गाजियाबाद में हादसे को लेकर योगी सरकार पर कड़ा प्रहार किया है। अखिलेश ने कहा कि बीजेपी के नेताओं का श्मशान से पुराना नाता रहा है।

गाजियाबाद का ये शमशान बालू से बना था। सरकार को 2 लाख की जगह 50 लाख की मदद करना चाहिए। इस घटना के लिए BJP जिम्मेदार है। अखिलेश ने कहा कि इससे पहले बनारस में इसी तरह की घटना देखने को मिल चुकी है। अखिलेश यहीं नहीं रूके उन्होंने आगे कहा कि दो लाख रुपए में क्या होता है? सरकार को कम से कम 50 लाख की मदद करनी चाहिए। कन्नौज में परफ्यूम पार्क का प्रोजेक्ट बंद होने पर अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कन्नौज का इतिहास है।

मैं फ्रांस गया था। वहां के लोगों से मिला। तय किया था कि कन्नौज में परफ्यूम पार्क बनाऊंगा। लेकिन भाजपा सरकार ने इस प्रोजेक्ट को बंद कर दिया। सरकार भूल गई कि ये काम किसान का था, सपा का नहीं था। किसानों पर आंसू गैस के गोले फेंके जा रहे हैं। फिर भी योगी सरकार कहती है कि हम किसान के साथ है।

इस बीच अखिलेश यादव ने कोरोना वैक्सीन को लेकर एक बार फिर सफाई दी है। उन्होंने कहा मैं चाहता हूं कि सरकार गरीबों को फ्री में वैक्सीन दे। इसका सरकार वादा करें और सरकार कैसे वैक्सीन लगाएगी इसका पूरा प्लान भी बताएं। हम तो कहते हैं सबसे पहले मीडियाकर्मियों को लगे। उन्होंने फ्रंट लाइन में काम किया है।

READ MORE:   आपका दिन मंगलमय हो, आज का राशिफल 22 अगस्त 2020

अखिलेश यादव ने कहा कि आजमगढ़ के गन्ना किसानों को इसलिए भुगतान नहीं हो रहा है, क्योंकि वहां का मैं सांसद हूं। मौजूदा समय में 10 हजार करोड रुपए का गन्ने का भुगतान बकाया है। उन्होंने कहा कि व्यापारी संगठनों का लॉकडाउन के दौरान बहुत बड़ा नुकसान हुआ लेकिन योगी सरकार ने कोई भी मदद नहीं की। लॉकडाउन के समय में बिजली का बिल देना पड़ा।

व्यापारियों को पूरी सुरक्षा की जिम्मेदारी समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी तो दी जाएगी। अखिलेश यादव ने गठबंधन को लेकर एक बार फिर पुरानी बात को दोहराया है और कहा है कि सपा के साथ जो सहयोगी छोटे दल थे, उन्हीं के साथ वह 2022 का चुनाव लड़ेगी। अन्य छोटे राजनीतिक दल उनसे जुडऩा चाहेंगे, उस पर विचार किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *