ICMR

कोविड संकट के बीच देश में नहीं है ऑक्सीजन की कमी-स्वास्थ्य मंत्रालय

Corona Updates देश हेल्थ

देश में कोरोना की स्थिति पर स्वास्थ्य मंत्रालय पूरी नजर रखे हुए है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता 6,900 मीट्रिक टन है। लगभग 6 फीसदी Corona मरीज फिलहाल ऑक्सीजन बेड पर हैं। इसका मतलब है कि 2,800 मीट्रिक टन ऑक्सीजन Corona और अन्य मरीज इस्तेमाल कर रहे हैं। राष्ट्रीय स्तर पर ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। राज्य यह सुनिश्चित करें कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की मैनेजमेंट सही से हो।

महाराष्ट्र में सबसे अधिक दैनिक मृत्यु दर

राज्यों के अनुसार Corona की स्थिति बताते हुए राजेश भूषण ने बताया कि 14 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में Corona के 5000 से कम एक्टिव केस हैं। 18 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 5000 से 50,000 के बीच Corona के एक्टिव केस हैं। देश के शीर्ष पांच राज्यों में महाराष्ट्र में सबसे अधिक दैनिक मृत्यु दर है। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने बताया कि देश में Corona की एवरेज पॉजिटिविटी रेट 8.4 फीसद है।


स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि रूस काफी समय से वैक्सीन बना रहा है। उम्मीद है कि Corona की वैक्सीन भी अच्छी होगी। वैक्सीन को लेकर भारत की उच्च स्तरीय कमिटी रूस के संपर्क में है और इसे लेकर मेकनिज्म पर बात चल रही है।

आइसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने बताया कि देश में तीन Corona वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल में हैं। कैडिला और भारत बायोटेक ने फेज-1 का ट्रायल पूरा कर लिया है। सीरम इंस्टीट्यूट ने फेज II-B3 का ट्रायल पूरा कर लिया है, जो कि अब फेज III की मंजूरी के बाद इसका ट्रायल किया जाएगा। इस ट्रायल में 14 स्थानों पर 1500 लोगों पर परीक्षण किया जाएगा।


प्लाज्मा थेरेपी पर हो रहा है अध्ययन: ICMR

इसके साथ ही प्रोफेसर बलराम भार्गव ने बताया कि Plasma therapy का उपयोग 100 वर्षों से अधिक समय से किसी न किसी रूप में किया जा रहा है और विभिन्न वायरस संक्रमणओं के लिए किया जाता है। वहीं, अब इसका उपयोग Corona संक्रमण में किया जा रहा है। यह Corona के इलाज में कितना मदद करता है या नहीं इस पर अभी अध्ययन किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *