अमेरिकी शोध का दावा, बिहार में छुपाए जा रहे कोरोना केस, सरकार 15 दिनों में बनाएगी 500 बेड का अस्पताल

Corona Updates NEWS Top News बिहार

अमेरिकी स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन में बताया है कि बिहार ने COVID-19 डेटा रिपोर्टिंग में सबसे खराब काम किया है। एक अध्ययन में पूरे भारत में कोरोना की गुणवत्तापूर्ण डेटा रिपोर्टिंग में विविधता पाई गई है। शोधर्ताओं ने कहा है कि बिहार में COVID 19 के संक्रमण के के मामले पारदर्शिता के साथ नहीं जुटाए हैं। इसी बीच बिहार में 500 बिस्तरों वाले कोविड अस्पताल बनाने की घोषणा की गई है।

केंद्रीय सरकार की पहल पर रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) की टीम ने 500 बिस्तरों वाले अस्थाई कोविड अस्पताल के निर्माण के लिए बिहार की राजधानी पटना और मुज़फ्फरपुर का दौरा कर विभिन्न स्थलों का निरीक्षण किया। DRDO के अधिकारियों की एक टीम ने पटना में 500 बिस्तरों का अस्पताल खोलने के लिए जिलाधिकारी कुमार रवि से संपर्क किया।

जिलाधिकारी के निर्देश पर DRDO के अधिकारियों की टीम ने उपयुक्त जमीन के अवलोकन एवं चयन के लिए वेटनरी कॉलेज के आसपास की जमीन तथा बिहटा में कई स्थलों का अवलोकन कराया गया। जिलाधिकारी कुमार रवि ने बताया कि उपयुक्त स्थल का चयन होने के उपरांत DRDO द्वारा अस्पताल निर्माण की दिशा में ठोस कार्रवाई की जाएगी।

मुज़फ्फरपुर के ज़िलाधिकारी चन्द्रशेखर सिंह ने बताया कि दिल्ली से आयी DRDO की 2 सदस्यीय टीम ने शनिवार को मुज़फ्फरपुर शहर स्थित चक्कर मैदान तथा मुजफ्फरपुर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एवं शहर के बाहरी इलाके में स्थित पताही हवाई अड्डा और झपहा में CRPF कैंप का मुआयना किया था।

डीआरडी की टीम के इस दौरे के दौरान मिलिट्री स्टेशन हेडक्वार्टर के कमांडिंग ऑफिसर (CO) लेफ्टिनेंट कर्नल पी एस नाइक और जिला प्रशासन के अन्य अधिकारी उपस्थित थे। जिलाधिकारी कुमार रवि ने कहा कि स्थल का चयन हो जाने के 15 दिनों के भीतर इस अस्पताल को चालू कर दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि 150 वेंटिलेटर से सुसज्जित 500 बिस्तरों वाला यह अस्थायी अस्पताल कोविड रोगियों के लिए सभी आवश्यक सुविधाओं से लैस होगा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि टीम पताही हवाई अड्डे पर यह अस्थायी कोविड अस्पताल खोलने के लिए अधिक इच्छुक थी।

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटे में 17 और व्यक्ति लोगों की मौत हो गई जिन्हें मिलाकर राज्य में अबतक इस महामारी में जान गंवाने वालों की संख्या 249 हो गयी है। वहीं राज्य में 2,605 और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि होने के साथ रविवार को कुल COVID-19 मरीजों की संख्या बढ़कर 38,919 हो गयी है।

स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बिहार में पिछले 24 घंटे के दौरान भागलपुर में 5, मुंगेर एवं पश्चिम चंपारण में 2-2, औरंगाबाद, बक्सर, किशनगंज, नालंदा, नवादा, पटना, समस्तीपुर, सीतामढ़ी में एक-एक व्यक्ति की मौत के साथ प्रदेश में रविवार तक कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 249 हो गयी।

बिहार में कोविड-19 से होने वाली मौतों में पटना में 37, भागलपुर में 25, गया में 14, रोहतास में 12, मुजफ्फरपुर एवं नालंदा में 11-11, दरभंगा, मुंगेर एवं समस्तीपुर में 10-10, पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण एवं सारण में 9-9, बेगूसराय में आठ, भोजपुर एवं सिवान में 7-7, खगडि़या, नवादा एवं वैशाली में 5-5, अररिया, जहानाबाद, किशनगंज, पूर्णिया एवं सीतामढी में 4-4, औरंगाबाद, कैमूर एवं कटिहार में 3-3, अरवल, बक्सर, लखीसराय एवं मधुबनी में 2-2 तथा बांका, गोपालगंज, जमुई, मधेपुरा, सहरसा, शेखपुरा, शिवहर एवं सुपौल जिले में एक-एक मरीज हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *