UP पंचायत चुनाव 2021: जानिए किस जिले के जिला पंचायत के 43 वार्डो में बदल रहा आरक्षण

elections NEWS उत्तर प्रदेश

यूपी में पंचायत चुनाव की तैयारियां जोरों पर है। संभावना है 2021 के मार्च से मई के बीच में कभी भी चुनाव हो सकते हैं। वैसे अभी जिलों में आरक्षण व्यवस्था लागू करने की तैयारियां चल रही हैं। मुजफ्फरनगर जिला पंचायत के वार्डों में आरक्षण में बदलाव होगा। फिलहाल जिले में वार्ड परिसीमन नहीं होगा। जो वार्ड चले आ रहे हैं उन्हीं के आधार पर चुनाव कराया जाएगा। आरक्षण को लेकर प्रधानी और बीडीसी में भी आरक्षण में बदलाव की संभावना है।

कई जिलों में परिसीमन की प्रक्रिया चल रही है। मुजफ्फरनगर को इस प्रक्रिया से बाहर रखा गया है। 2015 के चुनावों में परिसीमन के बाद जिले में जिला पंचायत में 43 वार्ड निर्धारित किए गए थे। इन वार्डों में 17 वार्ड अनारक्षित थे, बाकी सभी आरक्षित रहे। इनमें चार वार्ड अनुसूचित जाति के लिए, तीन अनुसूचित जाति की महिला के लिए, सात OBC के लिए और चार ओबीसी महिला के लिए तथा आठ महिला के लिए आरक्षित रहे। 15 वार्ड केवल महिलाओं के लिए ही आरक्षित रहे। इस बार परिसीमन तो यही रहेगा, लेकिन आरक्षण में बदलाव होगा। इसके अलावा जिले में 1085 क्षेत्र पंचायत सदस्यों का चुनाव होगा। इनमें भी आरक्षण रहेगा। यह आरक्षण पहले आरक्षण से अलग होगा। ग्राम प्रधान के 498 पदों और ग्राम पंचायत सदस्य के 6726 पदों के लिए भी चुनाव होगा। आरक्षण की व्यवस्था विधिवत रहेगी। सहायक निर्वाचन अधिकारी संजीव कुमार ने बताया कि आरक्षण शासन से ही तय होगा। 2015 में जिन वार्डों और गांवों में जो आरक्षण रहा है, इस बार उनमें अंतर हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *