# Mann Ki Baat 4 SSR

सुशांत केस: PM नरेंद्र मोदी से ‘मन की बात’ करेंगे सुशांत के फैंस

NEWS Top News

14 अक्टूबर को सुशांत सिंह राजपूत के दुखद निधन को चार महीने पूरे हो रहे हैं। केस की जांच CBI कर रही है। आधिकारिक तौर पर अभी तक यह पुष्टि नहीं हो सकी है कि सुशांत की मौत आत्महत्या थी या हत्या। एक्टर के निधन के बाद से ही सोशल मीडिया में इसका सच जानने के लिए परिवार और फैंस की ओर से लगातार मुहिम चलाई जा रही है। अब सुशांत की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने एक नई मुहिम का एलान किया है, जो 14 अक्टूबर को दिनभर चलाई जाएगी। इस ख़ास मुहिम के तहत सुशांत के फैंस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने संदेश भेजकर मन की बात कहेंगे।

श्वेता ने ट्विटर पर इसकी जानकारी देते हुए लिखा- Mann Ki Baat 4 SSR न्याय और सच जानने के लिए अपनी आवाज़ उठाने का अच्छा अवसर है। हम इस उपक्रम में लोग संगठित रहकर दिखा सकते हैं कि जनता को न्याय का इंतज़ार है। मैं अपने विस्तारित परिवार का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं जिन्होंने हमेशा मेरा साथ दिया।

श्वेता ने जानकारी शेयर की है, उसके मुताबिक 14 अक्टूबर को सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक सुशांत के चाहने वाले प्रधानमंत्री के मन की बात पोर्टल पर रिकॉर्डेड संदेश भेजेंगे। इसके अलावा फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर मैसेज लिखकर PMO और PM को टैग किया जाएगा।
14 जून को मिला था सुशांत का मृत शरीर

Sushant Singh Rajput का मृत शरीर 14 जून को उनके बांद्रा स्थित आवास पर मिला था। शुरुआत में इसे सुसाइड का मामला माना गया। हालांकि, कोई सुसाइड नोट नहीं मिला था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी सुसाइड की पुष्टि हुई थी। मुंबई पुलिस ने पेशेवर रंजिश के एंगल से भी जांच की। हालांकि, परिवार, दोस्त और फैंस इससे संतुष्ट नहीं थे। कुछ दिन बाद सोशल मीडिया के ज़रिए सुशांत केस की CBI जांच की मांग शुरू कर दी गयी।

READ MORE:   हैदराबाद गैंग रेप के चारो आरोपियों का एनकाउंटर


पिता ने पटना में दर्ज़ करवाई रिपोर्ट

25 जुलाई को सुशांत के पिता केके सिंह ने पटना के राजीव नगर थाने में रिया चक्रवर्ती, भाई शौविक चक्रवर्ती, पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती और मां संध्या चक्रवर्ती के साथ हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा और मैनेजर श्रुति मोदी के ख़िलाफ़ रिपोर्ट दर्ज़ करवाई। इसके बाद बिहार पुलिस मुंबई जांच करने गयी। कुछ दिन बाद बिहार सरकार ने केस की जांच CBI से करवाने की अनुशंसा केंद्र सरकार से की, जिसे केंद्र ने तुरंत स्वीकार कर लिया। इस बीच रिया ने बिहार पुलिस की रिपोर्ट को मुंबई ट्रांसफर करने के लिए SC में याचिका दायर की। सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच जारी रखने की अनुमति दे दी। CBI ने बिहार पुलिस द्वारा दर्ज़ FIR के आधार पर रिपोर्ट दर्ज़ करके जांच शुरू कर दी।

CBI से पहले प्रवर्तन निदेशालय इस केस में वित्तीय हेराफेरी की जांच शुरू कर चुका था। सुशांत के पिता ने FIR में 15 करोड़ रुपये हड़पने का आरोप रिया और उनके परिवार पर लगाया था। हालांकि, ईडी की जांच में इस दावे की पुष्टि नहीं हुई। बाद में वॉट्सऐप चैट्स के आधार पर ड्रग्स कनेक्शन सामने आया और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की एंट्री हुई। NCB ने 8 सितम्बर को रिया को गिरफ़्तार कर लिया था। लगभग एक महीने जेल में रहने के बाद रिया को 7 अक्टूबर को बॉम्बे HC से जमानत मिल गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *