Bombay Stock Exchange

लखनऊ का म्युनिसिपल बॉण्ड बीएसई में सूचीबद्ध,जानिए क्या होता है म्युनिसिपल बॉण्ड

कारोबार देश वीडियो

लखनऊ नगर निगम के 2 सौ करोड़ रुपये के म्युनिसिपल बॉण्ड की लिस्टिंग बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में हो गई है। मुंबई स्थित बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के कार्यालय में बुधवार को मुख्यमंत्री Yogi Adityanath ने इसका शुभारंभ किया। इसी के साथ उत्तर भारत में अब तक किसी नगरीय निकाय का Municipal Bond जारी करने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य बन गया है। स्टॉक एक्सचेंज में Municipal Bond के सूचीबद्ध हो जाने से जनता को बुनियादी सुविधाएं देने के लिए पैसे की कोई कमी नहीं रहेगी। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध होने से यह ट्रेडिंग के लिए उपभोक्ताओं के लिए उपलब्ध हो जाएगा।

मुम्बई में लखनऊ Municipal Bond की लिस्टिंग सेरेमनी के दौरान मुख्यमंत्री Yogi Adityanath ने ठीक सुबह सवा नौ बजे बीएसई में Municipal Bond की लिस्टिंग बेल बजाकर शुभारंभ किया। बेल रिंगिंग सेरेमनी अवसर पर CM योगी ने कहा कि यह उत्तर प्रदेश में नगरीय निकायों के लिए नए युग की शुरूआत है।


CM योगी ने कहा कि Corona काल में लखनऊ नगर निगम 200 करोड़ रुपये के नगरपालिका बॉण्ड की लिस्टिंग के साथ ‘आत्मनिर्भर’ लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में आगे बढ़ेगा। नगर निगम अपने अधिकार क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।


लखनऊ म्युनिसिपल कॉरपोरेशन बॉण्ड जारी करने वाला उत्तर भारत का पहला नगर निगम बन गया है। इस बॉण्ड के माध्यम से जुटाई गई धनराशि को लखनऊ में विभिन्न बुनियादी ढांचागत योजनाओं में निवेश किया जाएगा। लखनऊ नगर निगम के बॉण्ड पर निवेशकों को 8.5% वार्षिक ब्याज मिलेगा और इसकी परिपक्वता अवधि 10 साल है। इस बॉण्ड की सफल लॉन्चिंग से लखनऊ नगर निगम की भी छवि बदलेगी और इसे देश-विदेश से निवेश जुटाने में भी मदद मिलेगी।

READ MORE:   16 अक्टूबर को पीएम मोदी जारी करेंगे 75 रुपये का स्मारक सिक्का


क्या होता है बॉण्ड –
बॉण्ड एक तरह का साख पात्र होता है, जिसके माध्यम से विभिन्न स्रोतों से धन जुटाया जाता है। बॉण्ड जारी करने वाली संस्था एक निश्चित अवधि के लिए पैसे को उधार लेती है और निश्चित रिटर्न यानी ब्याज देने के साथ मूलधन वापस करने की गारंटी देती है। यह निवेशकों के लिए निश्चित आय का एक साधन होता है। यह कर्ज लेने और देने वाले के बीच का एक समझौता होता है। अगर निवेशक के नजरिए से देखा जाए तो बॉण्ड को बहुत सुरक्षित माना जाता है। खासकर सरकारी बॉण्ड बहुत सुरक्षित है। कारण यह है कि इसमें सरकार की गारंटी होती है।


क्या होता है म्युनिसिपल बॉण्ड –
म्युनिसिपल या नगर निगम बॉण्ड शहरी स्थानीय निकायों द्वारा जारी किए जाते हैं। जब नगर निगम को अपने प्रोजेक्ट करने, सड़क या स्कूल बनाने या सरकारी कामों के लिए पैसे की जरूरत होती है तो ऐसी स्थिति में वह भी बॉण्ड जारी कर सकती है। इस तरह के बॉण्ड को Municipal Bond कहते हैं। यह भी काफी सुरक्षित होते हैं और इन पर भी ब्याज दर अच्छी मिल जाती है। इसके माध्यम से नगर निगम पैसा जुटाता है और उसे शहर के बुनियादी ढांचा विकास कार्यों पर लगाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *