पीएम मोदी ने कपड़ों से दिया चुनावी संकेत!, गणतंत्र दिवस पर पहनी उत्तराखंड की टोपी और मणिपुर का गमछा

2022 में 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव (Assembly Election 2022) होने जा रहे हैं. ऐसे में इन चुनावों की कामान बीजेपी की तरफ से एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के हाथों में है. पीएम मोदी भी इन चुनावों को लेकर बहुत सक्रिय नजर आ रहे हैं और इसकी झलक आज गणतंत्र दिवस (Republic Day 2022) के मौके पर भी दिखाई दी. प्रतीकों की राजनीति के लिए मशहूर पीएम नरेंद्र मोदी गणतंत्र दिवस समारोह के मौके पर उत्तराखंड की टोपी और मणिपुर का गमछा पहने दिखाई दिए. उनकी टोपी पर उत्तराखंड के राज्यपुष्प ब्रह्मकमल भी अंकित था.

बता दें कि इन दोनों ही राज्यों में अगले महीने विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी की वेशभूषा को इन दोनों राज्यों के लिए संकेत के तौर पर देखा जा रहा है. पीएम मोदी अकसर ही देश के अलग-अलग हिस्सों की वेशभूषा में नजर आते रहे हैं. प्रतीकों की राजनीति के लिए चर्चित रहे पीएम की इस वेशभूषा को भी इसीलिए चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है.

पीएम ने दी शहीदों को श्रद्धांजलि
पीएम नरेंद्र मोदी सुबह 10 बजे राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर पहुंचे और दो मिनट का मौन रखकर शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि दी. इसके बाद पुष्प अर्पित किए. हाल ही में इंडिया गेट पर रखी अमर जवान ज्योति को भी राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीदों के सम्मान में प्रज्ज्वलित ज्योति में विलीन किया गया था. इसके अलावा इंडिया गेट पर 23 जनवरी को पीएम नरेंद्र मोदी ने महान स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया था. यहां एक भव्य प्रतिमा रखी जानी है. तब तक के लिए होलोग्राम की अस्थायी व्यवस्था की गई है.

‘हमें देश के जीवंत लोकतंत्र पर गर्व करना चाहिए’
इस बार का गणतंत्र दिवस भी बेहद खास है. रिपब्लिक डे परेड के लिए कोरोना वॉरियर्स, सेंट्रल विस्टा के निर्माण में लगे मजदूरों को विशिष्ट अतिथि का दर्जा दिया गया है. इस बार गणतंत्र दिवस में 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की झांकी प्रदर्शित की जाएगी. इसके अलावा केंद्र सरकार के 9 मंत्रालयों की झांकी भी राजपथ पर दिखाई दी. रिपब्लिक डे के मौके पर देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों ने भी ध्वजारोहण किया है. लखनऊ में तिरंगा फहराने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमें देश के जीवंत लोकतंत्र पर गर्व करना चाहिए.

Leave a Comment

Your email address will not be published.