Republic Day Farmers Parade: राजपथ के साथ रिंग रोड पर निकलेगा परेड

NEWS Top News दिल्ली

गणतंत्र दिवस को देखते हुए दिल्ली पुलिस को इनपुट मिला है कि अलकायदा और खालिस्तानी जैसे आतंकी संगठन राजधानी में अशांति फैलाने के फिराक में हैं। इसको लेकर एनआईए ने भी कार्रवाई की है। क्रांतिकारी किसान यूनियन चीफ दर्शनपाल का कहना है कि NIA ने किसान आंदोलन में शामिल या इस समर्थन देने वाले लोगों के खिलाफ केस दर्ज करना शुरू कर दिया है। सभी किसान संगठन इसकी निंदा करते हैं, हम संभव तरीके से इसके खिलाफ लड़ेंगे।

स्वराज इंडिया चीफ योगेंद्र यादव का कहना है कि किसान 26 जनवरी को दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर राष्ट्र ध्वज के साथ ट्रैक्टर परेड निकालेंगे, आधिकारिक गणतंत्र दिवस समारोह को किसी भी तरह बाधित नहीं किया जाएगा। जबकि ये मामला अभी सुप्रीम कोर्ट में है और अदालत इस मामले में सोमवार को फैसला सुना सकती है।

किसान यूनियन नेता दर्शन पाल सिंह ने आरोप लगाया कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) उन लोगों के खिलाफ मामले दर्ज कर रही है जो विरोध प्रदर्शन का हिस्सा हैं या इसका समर्थन कर रहे हैं। पाल ने कहा, ‘सभी किसान यूनियन इसकी निंदा करती हैं।’ पाल का इशारा एनआईए द्वारा उन समन की ओर था जिन्हें प्रतिबंधित संगठन ‘सिख्स फॉर जस्टिस संगठन से जुड़े एक मामले में किसान यूनियन नेता को कथित तौर पर जारी किया गया है।

50 दिन से भी ज्यादा वक्त से किसान आंदोलन कर रहे हैं। अब 26 जनवरी को किसान नेताओं ने ट्रैक्टर रैली निकालने का ऐलान किया है। अभी इस पर गतिरोध है कि ये रैली निकाली जाएगी या नहीं। मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है

एसीपी कनॉट प्लेस सिद्धार्थ जैन ने बताया कि हमारे पास इनपुट हैं कि खालिस्तानी संगठनों और अल-कायदा सहित कुछ आतंकवादी संगठन अवांछित गतिविधियों (26 जनवरी को) को अंजाम दे सकते हैं। इसे ध्यान में रखते हुए, हमने कुछ कदम उठाए हैं जिनमें वांछित आतंकवादी के पोस्टर लगाना शामिल हैं।

किसान संगठन 26 जनवरी गणतंत्र दिवस (Republic Day Farmers Parade) के दिन ट्रैक्टर रैली निकालने का ऐलान भी कर चुके हैं। अब सरकार और किसानों के बीच बयानबाजी भी हो रही है। इसी बीच भारतीय किसान यूनियन (लोकशक्ति) ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को चिट्ठी लिखकर रामलीला मैदान में आंदोलन करने की अनुमति मांगी है।

पुलिस ने इन आतंकियों का नाम और पते के बारे में सुराग देने वालों के नाम व जानकारियां गुप्त रखने की बात कही है। दिल्ली पुलिस की पीसीआर वाहनों पर भी इन पोस्टरों को लगाया गया है। दिल्ली पुलिस का कहना है कि गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर खास सतर्कता बरती जा रही है। इसी क्रम में आतंकियों के ये पोस्टर लगाए गए हैं। इससे आम लोग इनके बारे में जान सकेंगे व किसी भी तरह की सूचना पुलिस के साथ शेयर कर सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *