सुशांत की पूर्व मैनेजर के प्राइवेट पार्ट और शरीर पर मिले चोट के निशान, पोस्टमार्टम रिपोर्ट वायरल

NEWS Top News सिनेमा

सुशांत सिंह राजपूत की पूर्व मैनेजर की मौत की पीछे गहरा राज है। इसकी पुष्टि पूर्व मैनेजर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट करती है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सुशांत की पूर्व मैनेजर के प्राइवेट पार्ट एवं शरीर पर चोट के निशान होने के प्रमाण मिले हैं। पोस्टमार्टम रिपोर्ट वायरल हुई है। इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद सुशांत की पूर्व मैनेजर से जुड़े गहरे राज का बाहर आना तय है।

सुशांत की पूर्व मैनेजर की मौत को लेकर सोशल मीडिया और मीडिया में हत्या की आशंका जाहिर की जा रही थी लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट के सामने आने के बाद इस बात की आशंका बढ़ गयी है कि सुशांत की पूर्व मैनेजर के साथ रेप हुआ था और फिर उसकी हत्या कर दी गयी थी। सूत्रों कि मानें तो जिन लोगों ने सुशांत की पूर्व मैनेजर के साथ गलत किया है उन्हीं लोगों की सुशांत को साजिश रच कर मारने की भी मामला सामने आ रहा है। बिहार के डीजीपी यह बात कह चुके हैं कि सुशांत की पूर्व मैनेजर की मौत से ही सुशांत की मौत का लिंक जुड़ा हुआ है। यह एक बड़ा संकेत है।

पटना से मुंबई गयी एसआइटी के पास भी इस बात का सबूत है कि पूर्व मैनेजर और सुशांत के मौत के बीच में कनेक्शन है। एसआइटी को सुशांत के घर से कुछ सबूत मिले हैं। इसके अलावा अंकिता लोखंडे समेत कुछ लोगों के बयान भी इस बात के संकेत देते हैं कि दिशा के हत्या का राज छुपाने के लिए सुशांत को साजिश के तहत मारा गया है। इसी वजह से लोग इस मामले में सीबीआइ से जांच की मांग कर रहे थे जो कि सिफारिश मंजूर हो गयी है। कहा तो यह भी जा रहा है कि मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र की सरकार इसीलिए जांच में रोड़े अटका रही है। बिहार में हुए एफआइआर और पटना की एसआइटी की जांच से रोका जा रहा है। लेकिन अब लगभग सीबीआइ जांच का रास्ता साफ हो गया है।

सुशांत के साथ उनकी पूर्व मैनेजर की भी मौत की जांच होनी चाहिए। सुशांत की पूर्व मैनेजर के मामले की जांच भी सीबीआइ से होनी चाहिए। इस संबंध में बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गयी है। क्योंकि बिना सुशांत की पूर्व मैनेजर की मौत के जांच हुए सुशांत का केस नहीं खुलेगा। अगर इस मामले की जांच सीबीआइ से जल्द नहीं होगी तो महाराष्ट्र सरकार और पुलिस सबूत को नष्ट कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *