BSP ने अपने विधायकों को जारी किया व्हिप,गहलोत खेमा बेचैन?

देश राजनीति राजस्थान

लखनऊ- राजस्थान विधानसभा में शक्ति प्रदर्शन से पूर्व बहुजन समाज पार्टी ने अपने विधायकों को व्हिप जारी करके Congress की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। BSP के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा ने पार्टी के सभी 6 विधायकों को व्यक्तिगत व सामूहिक व्हिप जारी करते हुए Congress के विरोध में वोट देने को कहा है, जिसकी एक प्रति राज्यपाल को भी सौंप दी है। सतीश मिश्रा ने धमकी देते हुए कहा कि व्हिप का पालन न करने वाले विधायक के खिलाफ दलबदल कानून के तहत कार्रवाई कराकर उनकी सदस्यता निरस्त करायी जाएगी।

राजस्थान में जारी राजनीतिक संग्राम और सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को होने वाली सुनवाई से पहले बहुजन समाज पार्टी के महासचिव सतीश मिश्रा ने राजस्थान में अपने सभी 6 विधायकों को व्हिप जारी कर Congress सरकार की ओर से लाए जाने वाले विश्वास मत के खिलाफ वोट करने को कहा है। मिश्रा ने आरोप लगाया कि धोखा देना Congress की प्रवृत्ति आरंभ से ही रही है। Congress ने डॉ. भीमराव आंबेडकर को चुनाव में हराने का काम किया था। Congress ऐसा काम एक बार नहीं अनेक बार करती आई है। उन्होंने आरोप लगाया कि , Congress ने हमारे विधायकों को बंदी बनाकर रखा है।


बीएसपी की ओर से राजस्थान के अपने सभी 6 विधायकों के अलावा राज्यपाल कलराज मिश्रा और विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी को भी पत्र भेजा गया है, जिसमें कहा गया है कि 10वीं सूची के अनुसार किसी भी राष्ट्रीय पार्टी का विलय राज्य के स्तर पर नहीं हो सकता है क्योंकि सभी विधायकों ने बहुजन समाज पार्टी के चुनाव चिह्न पर विधानसभा चुनाव जीता था। इसलिए सभी पार्टी के सभी विधायकों के लिए व्हिप जारी किया जा सकता है। इसी के आधार पर सभी विधायकों के लिए पार्टी की व्हिप जारी किया गया है।


राजस्थान की राजनीति संकट गहरा गया है। राजनीति के चाणक्य माने जाने वाले मुख्यमंत्री Ashok Gehlot के लिए इस बार का सियासी संकट अधिक कठिन दिखाई दे रहा है। अपने राजनीतिक जीवन में ऐसी कई मुश्किलों से पार पा चुके Ashok Gehlot के लिए इस बार कहीं से भी राहत मिलती नहीं दिख रही है। इस संकट को गहलोत ने समय रहते भांप तो लिया, लेकिन इसे खत्म करने में वह सफल नहीं हो पा रहे हैं। कई प्रयासों के अब उन्हें मनमुताबिक परिणाम मिलते नहीं दिख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *