प्रिंस राज की कहानी, FIR की जुबानी; युवती के साथ सेक्स और 2 लाख रुपए देने की बात भी मानी

NEWS Top News दिल्ली

समस्तीपुर से लोक जनशक्ति पार्टी के सांसद और बिहार एलजेपी (पारस) गुट के प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस राज की मुश्किलें बढ़ने जा रही हैं. आने वाले कुछ दिनों में प्रिंस राज को दिल्ली पुलिस के कई सवालों का जवाब देना होगा, क्योंकि एक लड़की ने प्रिंस राज पर बलात्कार का मुकदमा दर्ज कराया है. दिल्ली की राउस एवेन्यू कोर्ट के आदेश के बाद प्रिंस राज पर रेप का मुकदमा दर्ज हुआ है.

इससे साफ जाहिर होता है कि पीड़िता का दावा उतना कमजोर नहीं है, जितना प्रिंस राज अपने पूर्व के बयानों में बोलते दिखे थे. हालांकि, प्रिंस राज भी युवती के खिलाफ पहले एफआईआर दर्ज करवा चुके हैं. प्रिंस की एफआईआर के मुताबिक, ‘युवती से मुलाकात साल 2019 में हुई थी. जून 2020 आते-आते दोनों एक-दूसरे के करीब आ गए. 18 जून, 2020 को युवती ने उन्हें गाजियाबाद स्थित अपने घर पर बुलाया, जहां दोनों के बीच शारीरिक संबंध बने. हालांकि, लड़की का आरोप है कि प्रिंस उसके साथ मर्जी के बिना ही संबंध बनाए.

युवती ने तीन महीने पहले ही दिल्ली पुलिस को प्रिंस राज के खिलाफ लिखित शिकायत दी थी, लेकिन दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज नहीं किया था. हालांकि, प्रिंस राज ने भी इसी साल फरवरी महीने में युवती के खिलाफ ब्लैकमेलिंग और एक्सटॉर्शन का मामला दर्ज कराया था. बता दें कि प्रिंस राज एलजेपी के संस्थापक अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के छोटे भाई दिवंगत रामचंद्र पासवान के बेटे हैं. एलजेपी (चिराग) गुट के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के चचेरे भाई भी हैं. इसके साथ ही मोदी मंत्रिमंडल में हाल ही में शामिल पशुपति कुमार पारस के भतीजे भी हैं.

READ MORE:   Farmers Protest: किसानों ने सरकार को चेताया- 'आग से न खेले', कानून में संशोधन का प्रस्ताव फिर से किया फेल

युवती ने इसी साल जून महीने में कनॉट प्लेस पुलिस थाने में तीन पेज की लिखित शिकायत दी थी. बाद में एफआईआर दर्ज होने में देरी को लेकर युवती कोर्ट पहुंची और अब जाकर मामला दर्ज हुआ है. हालांकि, सांसद प्रिंस राज ने भी युवती के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज करवा रखी है. इसमें उन्होंने युवती और उसके दोस्त पर ब्लैकमेलिंग और एक्सटॉर्शन का आरोप लगाया है. वहीं, युवती का आरोप है कि प्रिंस राज ने उसे शादी का झांसा देकर रेप किया.

गौरतलब है कि कुछ महीने पहले ही प्रिंस राज ने ट्वीट कर युवती के आरोप को खारिज किया था. प्रिंस राज ने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘पता चला है कि एक लड़की मेरे खिलाफ मीडिया में बयान दे रही है और कई तरह की बात भी कह रही रही है. ऐसे किसी भी गलत बयानबाजी का मैं खंडन करता हूं. मुझ पर अनावश्यक रूप से दबाव बनाने के लिए खुले तौर पर झूठी और मनगढ़ंत कहानी गढ़ी जा रही हैं. इस तरह का प्रयास पहले भी वह लड़की और उसके मंगेतर के द्वारा किया जा चुका है.’

प्रिंस राज ने इसी साल 9 फरवरी को लिखवाई गई एफआईआर में युवती और उसके साथी पर गंभीर आरोप लगाए थे. प्रिंस राज ने एफआईआर में आरोप लगाया था कि उन्हें युवती ने हनी ट्रैप के तहत फंसाया और फिर बाद में उस युवती ने अपने दोस्त के साथ एक्सटॉर्शन शुरू कर दिया. उन्हें रेप के झूठे केस में फंसा देने की धमकी दी जा रही है.

प्रिंस ने युवती के खिलाफ जो एफआईआर दर्ज करवाई है, उसमें उन्होंने लिखा है कि युवती से मुलाकात साल 2019 में हुई थी. जून 2020 आते-आते दोनों एक-दूसरे के करीब आ गए. प्रिंस के मुताबिक 18 जून, 2020 को युवती ने उन्हें गाजियाबाद स्थित अपने घर पर बुलाया, जहां दोनों के बीच संबंध बने. प्रिंस का आरोप है कि इस दौरान मेरा आपत्तिजनक वीडियो मोबाइल में युवती ने रिकॉर्ड कर लिया और बाद में युवती और उसके मंगेतर ने यह वीडियो सार्वजनिक कर देने के नाम पर ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. तस्वीरें और वीडियो सार्वजनिक करने के नाम पर 11 करोड़ रुपये की मांग की गई. प्रिंस के एफआईआर में दावा किया गया है कि उन्होंने युवती को करीब दो लाख रुपये दिए भी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *