United Nations General Assembly

पीएम मोदी संयुक्त राष्ट्र महासभा को कर रहे हैं संबोधित

NEWS Top News

प्रधानमंत्री मोदी आज शनिवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र को ऑनलाइन संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री खुद ट्वीट करके यह जानकारी दी है। Corona संकट के चलते संयुक्त राष्ट्र महासभा का आयोजन ऑनलाइन किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर बताया कि उनका संबोधन न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा हॉल में शाम 6:30 बजे होगा। यह संबोधन पहले ही रिकॉर्ड किया जा चुका है। आज महासभा को संबोधित करने वाले मोदी पहले वक्ता होंगे।

चूंकि इस बार Covid-19 महामारी की उत्पन्न परिस्थितियों में संयुक्त राष्ट्र महासभा का आयोजन किया जा रहा है इसलिए यह वर्चुअली हो रहा है। यूएनजीए के 75वें सत्र की थीम ‘भविष्य जो हम चाहते हैं, संयुक्त राष्ट्र जिसकी हमें जरूरत है, Covid-19 से प्रभावी बहुआयामी कदम के माध्यम से संघर्ष में हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता’ है।

सूत्रों की मानें तो संयुक्त राष्ट्र महासभा के जारी 75वें सत्र के दौरान भारत की प्राथमिकता आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक कार्रवाई को और मजबूती देने पर होगी। अपने संबोधन में प्रधानमंत्री भारत की प्राथमिकताओं को रखेंगे। सूत्रों ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र में भारत का जोर आतंकवाद से मुकाबले पर वैश्विक कार्रवाई की मजबूती को प्रोत्साहित करने पर रहेगा।


यही नहीं भारत प्रतिबंध समिति में उद्यमों और व्यक्तियों की लिस्टिंग और डीलिस्टिंग की प्रक्रिया में और पारदर्शिता पर भी प्रकाश डाल सकता है। स्थायी विकास और जलवायु परिवर्तन से संबंधित मसलों पर भारत अपनी सक्रिय भागीदारी जारी रखेगा। स्वास्थ्य सेवा प्रदाता के रूप में अपनी भूमिका को प्रोत्साहित करते हुए भारत कोरोना के खिलाफ वैश्विक सहयोग में अपने योगदान को उजागर करेगा। भारत ने 150 से ज्यादा देशों को सहयोग मुहैया कराया है।

READ MORE:   UPSC ने NDA और NA एग्जाम के लिए एडमिट कार्ड जारी,जानिए कब तक कर सकते है डाउनलोड


गौरतलब है कि मौजूदा वक्‍त में हो रहे विभिन्‍न वैश्विक मंचों पर भारत आतंकवाद और सीमा पार से हो रही घुसपैठ के मुद्दों को प्रमुखता के साथ उठा रहा है। बीते दिनों सार्क देशों यानी दक्षिण एशिया क्षेत्रीय सहयोग संगठन के विदेश मंत्रियों की बैठक में भी भारत ने अंतरराष्‍ट्रीय संबंधों की राह में आतंकवाद को सबसे बड़ी बाधा बताया था। यही नहीं मानवाधिकार परिषद के 45वें सत्र को संबोधि‍त करते हुए भारत ने आतंकवाद को मानवता का सबसे बड़ा दुश्‍मन बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *