Bihar Assembly Election 2020

बिहार का रण: छठी मइया के आशीर्वाद से दिलाएंगे गंदगी से मुक्ति- पीएम मोदी

NEWS Top News

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को बिहार को तीसरी बार चुनावी सौगात दी है। ये शहरी विकास से जुड़ी 545 करोड़ की सात परियोजनाएं हैं। प्रधानमंत्री ने इनका उद्घाटन और शिलान्यास किया। विधानसभा चुनाव की घोषणा के पहले PM Modi के 6 कार्यक्रमों में यह तीसरा कार्यक्रम था। आगे 18, 21 और 23 सितंबर को भी उद्घाटन व शिलान्यास के कार्यक्रम निर्धारित हैं। चुनाव की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री की 2 दर्जन से अधिक वर्चुअल चुनावी रैलियां भी संभावित हैं। आज के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने कहा कि छठी मइया के आशीर्वाद से गंदगी से मुक्ति के अभियान में सफलता जरूर मिलेगी। उन्‍होंने Corona संकट को लेकर एहतियात बरतने को भी कहा।

कार्यक्रम के पहले प्रधानमंत्री ने आज सुबह ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। ट्वीट में उन्‍होंने लिखा कि 12 बजे वे वर्चुअल माध्यम से सात परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्यास करेंगे। इनमें जल आपूर्ति, सीवरेज ट्रीटमेंट और रिवर फ्रंट डेवलपमेंट से संबंधित परियोजनाएं शामिल हैं। इनसे बिहार में शहरी आधारभूत संरचना को नई मजबूती मिलेगी।
कोरोना संक्रमण पर कहा- जब तक दवाई नहीं, तब तक ढि़लाई नहीं। शरीररिक दूरी का पालन करें और मास्‍क पहनें।

छठी मइया के आशीर्वाद से हम बिहार को गंदे जल से मुक्ति दिलाएंगे।
पटना में रिवर फ्रेंट परियोजना पूरी हो गई है। मुजफ्फरपुर में काम पूरा होने पर पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

गंगाजल की स्‍वच्‍छता का सीधा प्रभाव इसके किनारे के शहरों में रहने वाले लागों पर पड़ता है। गंगा किनारों के शहरों से गंदे नालों का पानी सीधे गंगा में गिरने से रोकना है। पटना में जाे सीवरेज ट्रीटमेंट प्‍लांट का उद्घाटन हुआ है, इसी की कड़ी है।

बिहार के शहरी क्षेत्रों में लाखों लागों को सीवरेज सुविधा से जोड़ा गया है। एलईडी स्‍ट्रीट लाइट लगा कर बिजली की बचत की जा रही है।

बाबा साहेब अंबंडकर शहरीकरण के बड़े समर्थक थे।

जब पानी व सीवरेज की मूल जरूरतों को पूरा नहीं किया जाता है, तब सर्वाधिक परेशानी मताओं-बहनों को होती है। गरीबों को होती है। गंदगी से बीमारियां फैलतीं हैं। इलाज में परिवार कर्ज तले दब जाता है।
वि‍भिन्‍न कारणों से बिहार के गांव पिछड़ते गए और शहर का विकास भी रुक गया। काम भी हुए तो घोटालों की भेंट चढ़ गए।

देश के विकास में बिहार का बड़ा योगदान है।

आज इंजीनियर्स डे है। भारतीय इंजीनियरों की अपनी अलग पहचान है। वे देश के विकास को गति दे रहे हैं। सभी इंजीनियरों व उनकी निर्माध शक्ति को नमन करता हूं।
शहरी गरीबों व शहर का जीवन आसान बनाने की योजनाओं के लिए बधाई देता हूं।

प्रधानमंत्री का संबोधन आरंभ।

प्रधानमंत्री ने किया विभिन्‍न परियोजनाओं का उद्घाटन व शिलान्‍यास।

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बोले- बिहार में सभी योजनाएं समय पर पूरी होंगीं, इसका आश्‍वासन देते हैं।
मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बोले- कालक्रम में नदियों का पानी प्रदूषित होता गया।

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बोले- प्रधानमंत्री का अभिनंदन करता हूं।

बिहार में डिजिटल व फिजिकल इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर की मजबूती के लिए आपको धन्‍यवाद।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का संबोधन। कहा- देश के समावेशी विकास का प्रधानमंत्री का संकल्‍प है। आप कहते हैं कि समावेशी विकास के लिए हर क्षेत्र का विकास होना चाहिए।
प्राजेक्‍ट डॉल्फिन के लिए प्रधनमंत्री को धन्‍यवाद। बिहार में सर्वाधिक 1455 डाल्फिन हैं।

पटना में गंगा का पानी पीने योग्‍य नहीं है। इसे ठीक करना होगा।

कहा कि नवामी गंगे योजना के तहत दो योजनाओं को आज उद्घाटन हो रहा है।

उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी का स्‍वागत भाषण शुरू।

मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी कार्यक्रम से जुड़ चुके हैं।
प्रधानमंत्री उद्घाटन व शिलान्‍यास कार्यक्रम वर्चुअल करेंगे। इससे मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार व उपमुख्‍यमंत्री सुशील मोदी भी जुड़ेंगे।

पीएम मोदी के कार्यक्रम को https://pmevents.ncog.gov.in/ पर लाइव देखा जा सकता है।

एक घंटे बाद शुरू होगा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वर्चुअल कार्यक्रम। बिहार में सात परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन-शिलान्‍यास।

कार्यक्रम से जुड़ेंगे नीतीश-सुशील मोदी

प्रधानमंत्री ने यह उद्घाटन व शिलान्‍यास कार्यक्रम वर्चुअल किया। इससे पटना के कर्मलीचक और बेउर से केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद जुड़े तो बक्सर में केंद्रीय स्वास्थ राज्यमंत्री अश्वनी चौबे, छपरा से सांसद राजीव प्रताप रुडी तथा अन्य जगहों पर राज्य सरकार के कई मंत्री-विधायक मौजूद रहे। कार्यक्रम से CM Nitish Kumar व उपमुख्‍यमंत्री Sushil Modi भी जुड़े।

चुनाव में पीएम मोदी की दो दर्जन से अधिक रैलियां संभावित

प्रधानमंत्री हाल के दिनों में बिहार में शिलान्‍यास व उद्घाटन कार्यक्रमों में करीब 12 सौ करोड़ के विकास कार्यों के तोहफे दे चुके हैं। आगे के 4 कार्यक्रमों में भी वे 15 हजार करोड़ से अधिक के तोहफे देने जा रहे हैं। प्रधानमंत्री के ये कार्यक्रम उद्घाटन व शिलान्‍यास के सरकारी कार्यक्रम हैं। हालांकि, इन्‍हें चुनावी नजर से देखा जा रहा है। बीते विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ताबड़तोड़ 30 रैलियां की थीं। बताया जा रहा है कि इस बार भी चुनाव की घोषणा के बाद भारतीय जनता पार्टी उनकी रैलियां करवाने की तैयारी में है। उनकी ऐसी दो दर्जन से अधिक Virtual Rally हो सकतीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *